पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

लापरवाही:हाईवे के दोनों ओर खड़े हो रहे ट्रक, ट्रैफिक हो रहा जाम, जिम्मेदार नहीं कर रहे कार्रवाई

मुरैना12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एक साल से बंद ट्रांसपोर्ट नगर बनाए जाने का काम, ननि का रोना बजट का अभाव
  • 41 करोड़ रुपए की लागत से बनाया जाना है छौंदा टोल टैक्स के पास बनाया जाना है ट्रांसपोर्ट नगर

फ्लाईओवर बनने से बैरियर क्षेत्र में जाम की समस्या से निजात तो मिली है, लेकिन हाइवे पर लंबी दूरी के ट्रक खड़े होने से आवागमन बाधित हो रहा है। जिससे दुर्घटनाओं की आशंका बनी रहती है। एनएच से 11 करोड़ रुपए की राशि नगर निगम मिल जाए तो ट्रांसपोर्ट नगर बनाने का काम शुरू हो सकेगा। इससे नेशनल हाइवे पर जाम लगने की समस्या हल हो सकेगी।

छौंदा टोलटैक्स के पास बनाए जा रहे ट्रांसपोर्ट नगर का काम एक साल से बंद है। इस कारण लंबे दूरी से आने वाले ट्रक सुबह से शाम तक नेशनल हाईवे दोनों ओर सड़क किनारे खड़े रहते हैं। क्योंकि शहर में मिस्त्रीयों की दुकानों का स्थान निर्धारित नहीं होने के कारण वे चाहे जहां अपना कारोबार शुरू कर देते हैं।

ऐसे में नेशनल हाइवे पर अंबाह बाईपास से लेकर आरटीओ बैरियर तक ट्रकों की लंबी लाइन लग रही है। ऐसा ही स्थिति बैरियर से न्यू हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी के गेट तक बनी रहती है। सड़क के दोनों ओर ट्रकों की लंबी कतार लगने से नेशनल हाइवे पर न केवल वाहनों का आवागमन प्रभावित हो रहा है, बल्कि कभी भी हादसा हो सकता है।

41 करोड़ से बनना है ट्रांसपोर्ट नगर, बिजली का इंतजाम नहीं
नगर निगम से हुए अनुबंध के मुताबिक भगवती इंटर प्राइजेज कंपनी को ट्रांसपोर्ट नगर बनाए जाने का काम 41 करोड़ रुपए की लागत से पूरा करना है। बजट के अभाव में अब तक 11 करोड रुपए का काम ही हो सका है। जिसके तहत अब तक अर्थ वर्क, नालियां, सीवर, पानी सप्लाई करने वाटर लाइन जैसा काम कम्पलीट हो चुका है।

लेकिन नगर निगम की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने से सड़क, पार्किंग, बिजली, इंफ्रास्ट्रेक्चर की साज-सज्जा जैसे कार्य शुरू नहीं हो पा रहे हैं। जानकारी के मुताबिक ट्रांसपोर्ट नगर में बिजली व्यवस्था करने के लिए नगर निगम 30 लाख रुपए जमा कराने है। लेकिन यह राशि जमा नहीं कराए जाने से ट्रांसपोर्ट नगर में बिजली व्यवस्था का इंतजाम नहीं हो पा रहा है।

जून 2019 तक बनाया जाना था ट्रांसपोर्ट नगर
नगर निगम ने छौंदा टोल टैक्स के पास ट्रांसपोर्ट नगर बनाए जाने का वर्कऑर्डर 29 जनवरी 2018 को भगवती इंटर प्राइजेज कंपनी के नाम जारी किया था। अनुबंध के अनुसार यह कार्य जून 2019 तक पूरा होना था। लेकिन निर्धारित समय में ट्रांसपोर्ट नगर बनाए जाने का काम पूरा नहीं हुआ। इसके बाद 6-6 महीने की समय-सीमा बढ़ाकर काम कराया गया। लेकिन ठेकेदार 11 करोड़ रुपए का भुगतान नहीं होने से ट्रांसपोर्ट नगर बनाए जाने का काम एक साल बंद है।

परिवहन मंत्रालय से आनी है 11 करोड़ रुपए की राशि
^काफी समय से नगर निगम आर्थिक तंगी से जूझ रहा है। ऐसे में ठेकेदार का भुगतान नहीं होने से ट्रांसपोर्ट नगर बनाए जाने का काम एक साल से बंद है। राष्ट्रीय राज्य मार्ग प्राधिकरण से 11 करोड़ रुपए की राशि भी नगर निगम को नहीं मिली है। कहीं से भी अतिरिक्त राशि आएगी तो ठेकेदार का भुगतान कर ट्रांसपोर्ट नगर बनाए जाने का काम शुरू करा देंगे।
अमरसत्य गुप्ता, आयुक्त नगर निगम मुरैना

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थितियां आपके पक्ष में है। अधिकतर काम मन मुताबिक तरीके से संपन्न होते जाएंगे। किसी प्रिय मित्र से मुलाकात खुशी व ताजगी प्रदान करेगी। पारिवारिक सुख सुविधा संबंधी वस्तुओं के लिए शॉपिंग में ...

और पढ़ें