पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अमोलपुरा हत्याकांड की होगी मजिस्ट्रियल जांच:घटना में ग्रामीण महावीर सिंह तोमर की हुई थी मौत, वन आरक्षकों की गोली लगने का है आरोप

मुरैनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अमोलपुरा गांव में वन अमले का वाहन - Dainik Bhaskar
अमोलपुरा गांव में वन अमले का वाहन
  • जिला कलेक्टर ने आज दिए निर्देश

अमोलपुरा गांव में ग्रामीण महावीर सिंह तोमर की मौत की मजिस्ट्रियल जांच की जाएगी। इसके आदेश आज शाम कलेक्टर बक्की कार्तिकेयन दे दिए हैं। इस घटना में वन आरक्षकों को आरोपी बनाया गया है। 9 आरक्षकों के खिलाफ नगरा थाना पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज किया है। मजिस्ट्रियल जांच अनुविभागीय अधिकारी राजस्व अम्बाह राजीव समाधिया करेंगे।
यहां बता दें, कि घटना के बाद मजिस्ट्रियल जांच के लिए वन विभाग के डीएफओ अमित निकम के नेतृत्व में आरक्षक कलेक्ट्रेट पहुंचे थे। वहां सभी ने मुख्यमंत्री के नाम संयुक्त कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर इस घटना की मजिस्ट्रियल जांच कराने की मांग की थी। यह भी कहा था कि अगर जांच नहीं की गई तो वन आरक्षकों को आन्दोलन के लिए बाध्य होना पड़ेगा।
पूरा मामला संक्षेप में
13 जून को वन विभाग का अमला रोज की तरह गश्त करने निकला था। रास्ते में उसे अवैध चंबल के रेत से भरी ट्रेक्टर ट्राली मिली। वन अमले ने ट्रेक्टर ट्राली का पीछा किया। घबराया ट्रेक्टर चालक नगरा क्षेत्र के अमोलपुरा गांव में ट्रेक्टर लेकर घुस गया। सुबह का वक्त था। ग्रामीण सुबह की दिनचर्या में व्यस्त थे। महावीर सिंह तोमर अपने दुधारू जानवरों को सानी लगाकर शौच के लिए जा रहे थे। वह गांव के बाहर के रास्ते जा रहे थे। उसी दौरान ट्रेक्टर ट्राली का पीछा करते वन विभाग की बुलेरो गाड़ी गांव में घुसी। गाड़ी में मौजूद वन आरक्षकों ने गोलियां चलाईं। एक गोली महावीर सिंह तोमर के लगी, जिससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई थी। गांव के सदस्य की मौत से आक्रोशित ग्रामीणों ने वन अमले की गाड़ी को घेर लिया। उन पर आक्रमण किया। घबराकर वन अमला बुलेरो गाड़ी क्रमांक-एमपी-09-सीजे-7712 छोड़कर भाग गया। जैसा की मृतक के परिजनों व ग्रामीणों ने पुलिस को बताया। मृतक के परिजनों के आवेदन पर नगरा थाना पुलिस ने अपराध क्रमांक 85/2021 धारा 32,294,147,148,149 ताहि कर प्रकरण पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया है।
वन विभाग ने दर्ज कराई एफआईआर
अपने आरक्षकों के खिलाफ ममला दर्ज होने के बाद वन विभाग ने भी एफआईआर दर्ज कराई है। विभाग ने एक सैकड़ा अज्ञात लोगों के खिलाफ नगरा थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। फरियादी दीपांकर सिंह पुत्र विवेक रंजन सिंह तोमर गेमरेंजर राष्ट्रीय चंबल अभ्यारण अम्बाह, भिण्ड ने यह एफआईआर दर्ज कराई है। उन्होंने पुलिस को बताया कि घटना वाले दिन गस्ती दल ने ट्रेक्टर ट्राली को जब्त कर लिया था। उसको छुड़ाने के लिए एक सैकड़ा ग्रामीणों ने गस्ती दल पर एकराय होकर हमला बोल दिया था। ग्रामीणों ने दल के सदस्यों के शासकीय हथियार छुड़ाने का प्रयास किया। अवैध हथियारों से फायरिंग की। शासकीय कार्य में बाधा डालने के साथ-साथ उनका शासकीय वाहन भी तोड़ डाला। जांच अधिकारी ने घोषणा की है। इस घटना से संबंधित जिस किसी भी व्यक्ति को जानकारी हो। वह साक्ष्य सहित 7 दिनों के अन्दर उनके सामने प्रस्तुत करे।