• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Morena
  • Water Level Of More Than A Dozen Villages Will Be High, This Time Due To Good Rain, The Crop Will Be Good

गलेता बांध में भरा पानी:दर्जन भर से अधिक गांवों का वाटर लेवल होगा ऊंचा, अच्छी बारिश से इस बार अच्छी होगी फसल

मुरैना10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
क्वारी नदी पर बने गलेता स्टॉप � - Dainik Bhaskar
क्वारी नदी पर बने गलेता स्टॉप �
  • कुछ किसानों के खेतों में पानी भरने से बीज गलने की सताने लगी चिंता

जिले के अंबाह क्षेत्र के गलेता डेम में भरपूर पानी आ गया है। यह पानी डेम के पुल की सतह के बराबर आ गया है। सतह के बराबर आने से गलेता भैंसरोली व आस-पास के दर्जन भर से अधिक गांवों का वाटर लेवल ऊंचा हो जाएगा। वहीं दूसरी तरफ जिन किसानों के खेतों में बारिश का पानी भर गया है, वहां बीज गलने की आशंका व्यक्त की जा रही है। जिले में अच्छी बारिश ने वाटर लेवल की समस्या को दूर कर दिया है। यहां बता दें कि, अंबाह क्षेत्र के क्वारी नदी के बगल में मौजूद गांवों में वाटर लेवल बहुत नीचे चला गया था। इससे किसानों को सिंचाई के लिए पानी नहीं मिल पाता था। सिंचाई न कर पाने के कारण कारण किसानोें के खेत बिना जुते ही पड़े रहते थे। उनमें कोई फसल नहीं होती थी। लेकिन इस बार अच्छी बारिश से इन गांवों के किसानों की पानी की समस्या दूर हो गई है। इसका कारण यह है कि जल संसाधन विभाग ने कुछ स्टॉप डेम नहीं खोले हैं। इनमें एक है गलेता स्टॉप डेम। हालांकि इस डेम पर पानी ऊपर तक पहुंच गया है। जल संसाधन विभाग की माने तो उन्होंने अभी डेम के गेट नहीं खोले हैं, अगर इन डेम के गेट खोल देते हैं तो क्वारी नदी में बाढ़ आ जाएगी और आस-पास के गांवों को परेशानी होगी।

गलेता स्टॉप डेम में भरा पानी
गलेता स्टॉप डेम में भरा पानी

क्वारी नदी पर बने स्टॉप डेम
जिन स्टॉप डेम को अभी नहीं खोला गया है उनमें गलेता भैंसरोली, गुढ़ा, चितौरा, एरोली, दिमनी तथा कोंथर के स्टॉप डेम हैं। इन डेमों में पानी भरा हुआ है। अगर अधिक बारिश होती है तो इन डेम को मजबूरी में खोलना पड़ सकता है। लेकिन स्टॉप डेम न खोलने से किसानों के इस बार सिंचाई के लिए भरपूर पानी मिल सकेगाा। खासकर वह गांव जो क्वारी नदी के किनारे बने हैं तथा वहां का वाटर लेवल बहुत नीचे है।
10 किलोमीटर तक के खेतों को मिलेगा लाभ
जल संसाधन विभाग की माने तो डेम को नहीं खोलने से लगभग 10 किलोमीटर तक के क्षेत्र जहां पानी भरा हुआ है। उन गांवों का वाटर लेवल ऊपर आ जाएगा तथा उन्हें सिंचाई के लिए भरपूर पानी मिलेेगा। इससे किसानों की सरसों व गेहूं की फसल इस बार अच्छी होगी।
बीज गलने की आशंका
यहां बता दें, कि बारिश के कारण कई खेतों में पानी इतना अधिक भर गया है कि वहां खेत में डाले गए बीजों के गलने की आशंका व्यक्त हो गई है। किसानों ने खेत जोत कर बीज डाल दिए थे, लेकिन अब उन खेतों में पानी भर गया है। जिसकी वजह से अब, बीज गलने की आशंका उत्पन्न हो गई है।
कहते हैं अधिकारी
इस बार कुछ क्वारी नदीं के कुछ डेम अभी नहीं खोले हैं, जिससे उनमें भरपूर पानी भर गया है। इस पानी से किसान अपने खेतों की सिंचाई कर सकेंगे तथा वाटर लेवल ऊपर आ जाएगा।
RK शर्मा, जल संसाधन विभाग