डेंगू से एक महिला की मौत:मुरैना के काजीबसई गांव की महिला की ग्वालियर अस्पताल में हुई मौत

मुरैना10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
काजीबसई गांव में लगाया शिविर - Dainik Bhaskar
काजीबसई गांव में लगाया शिविर
  • चिकित्सकों का कहना है कि उसको डेंगू नहीं था, उसका डेंगू का न मुरैना में और न ग्वालियर में रिकॉर्ड
  • नूराबाद कस्बे के काजीबसई गांव में गई मलेरिया विभाग की टीम, 12 घरों में मिला डेंगू का लार्वा
  • एक भी मरीज डेंगू का नहीं मिला, 32 लोग वायरल से पीड़ित

नूराबाद क्षेत्र के काजीबसई गांव की एक महिला की मौत डेंगू से हो गई है। मौत ग्वालियर के जयारोग्य चिकित्सालय में हुई है। उसे 12 अक्टूबर को मुरैना से ग्वालियर रैफर किया गया था। चिकित्सकों का कहना है कि उसे डेंगू नहीं हुआ था। उनके अनुसार न मुरैना में और न ही ग्वालियर में उसका डेंगू का रिकॉर्ड है। काजीबसई गांव में मलेरिया विभाग की टीम आज पहुंची तथा उसने 12 घरों में डेंगू का लार्वा पाया। चििकत्सकों ने 70 लोगों की जांच की जिसमें 32 लोगों को वायरल बुखार से पीड़ित पाया लेकिन एक भी डेंगू का मरीज नहीं मिला।
आपको बता दें, कि जिले में वायरल बुखार पहले से ही पैर पसार चुका है। इसके साथ ही 3 लोग डेंगू से पीड़ित पाई गए थे। इममें से दो लोग ठीक हो चुके हैं तथा एक व्यक्ति का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। आपको बता दें कि नूराबाद ब्लॉक के अर्न्तगत आने वाले काजीबसई गांव में सबसे अधिक लोग बुखार से पीड़ित हैं। यहां की एक महिला सायना पुत्री अब्दुल इसाद, उम्र 30 वर्ष को जिला अस्पताल मुरैना में भर्ती कराया गया था। उसे बुखार आ रहा था। 12 अक्टूबर 2021 को उसे ग्वालियर रैफर कर दिया गया। वहां उसका किसी निजी अस्पताल में इलाज चला। जब उसको फायदा नहीं हुआ तो उसके घरवालों ने उसे 14 अक्टूबर को जयारोग्य चिकित्सालय में भर्ती करा दिया। वहां उसके प्लेटलेट्स निरंतर कम होते गए तथा आज रविवार को उसकी मौत हो गई।
70 लोगों की जांच की, 32 मिले बीमार
जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. गिर्राज गुप्ता के नेतृत्व में मलेरिया विभाग की टीम रविवार को काजीबसई गांव में पहुंची। 400 परिवारों की आबादी वाले गांव में उन्हें 12 घरों में डेंगू का लार्वा मिला। उन्होंने वहीं उसे नष्ट काराया। इसके बाद 70 लोगों की जांच की जिसमें 32 लोग बुखार से पीड़ित थे। चिकित्सकों के अनुसार डेंगू का एक भी मरीज नहीं मिला है। केवल वायरल के मरीज मिले हैं।
मृतिका सायरा के घर गए चिित्सक
काजीबसई गांव में मृतका सायरा के घर भी चिकित्सकों की टीम गई लेकिन उन्हें उसके बीमार होने का कोई रिकॉर्ड नहीं मिला। थोड़ी देर रुकने के बाद टीम के सदस्य वापस आ गए।
कहते हैं चिकित्सक
आज काजीबसई गांव गए थे। 70 लोगों को चेक किया लेकिन डेंगू एक को भी नहीं मिला। 32 लोग वायरल से पीड़ित मिले हैं। 12 घरों में कूलर में डेंगू का लार्वा मिला है। मृतिका सायरा के भी घर गए थे लेकिन वहां कोई रिकॉर्ड नहीं मिला। मुरैना जिला अस्पताल में उसके डेंगू होने का रिकॉर्ड नहीं है और न ही जयारोग्य चिकित्सालय ग्वालियर में मिला है।
डॉ. गिर्राज, गुप्ता, जिला मलेरिया अधिकारी

कहते हैं सीएमएचओ
मृतका का डेंगू पीड़ित होने का कोई रिकॉर्ड नहीं मिला है। आज हमने काजीबसई गांव में मलेरिया विभाग की टीम भेजी थी लेकिन कोई डेंगू पीड़ित नहीं मिला है।
डॉ. एडी शर्मा, सीएमएचओ, मुरैना