पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • 125 Years Old Ram Temple In Phalka Market, Devotees Will Not Be Allowed To Enter The Temple This Time Due To Corona Infection

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ग्वालियर के राममंदिर:फालका बाजार में है 125 साल पुराना राममंदिर, कोरोना संक्रमण के कारण इस बार श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा

ग्वालियर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मैं इस संसार के प्रिय एवं सुंदर उन भगवान राम को बार-बार नमन करता हूं, जो सभी आपदाओं को दूर करने वाले तथा सुख-संपत्ति प्रदान करने वाले हैं।

फालका बाजार स्थित यह राम मंदिर 125 वर्ष पुराना बताया जाता है। मंदिर के सचिव गोविंद प्रसाद बंसल का कहना है कि पहले यहां प्रभु राम और सीता जी की छोटी प्रतिमाओं की पूजा की जाती थी। 68 साल पहले यानी संवत् 2010 में मंदिर में श्रीराम और सीताजी की बड़ी प्रतिमाएं स्थापित की गईं। मंदिर को ग्वालियर वालान अग्रवाल पंचायत द्वारा स्थापित किया गया है। मंदिर की दीवारों पर प्रभु श्री राम के जीवन से संबंधित चित्र उकेरे गए हैं। यह चित्रकारी कांच के टुकड़ों की मदद से की गई है। श्री बंसल के अनुसार रामनवमी पर इस बार राम जन्मोत्सव मंदिर के कुछ पदाधिकारियों तथा पुजारियों द्वारा मनाया जाएगा। कोरोना संक्रमण के कारण इस बार श्रद्धालुओं को मंदिर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

195 साल पुराना आबा महाराज श्रीराम मंदिर
समर्थ गुरु रामदास जी की 400 साल पुरानी परंपरा का यह मंदिर 195 साल पहले दाल बाजार में आबा महाराज मठ के नाम से स्थापित किया गया था। यहां पर भगवान श्रीराम, लक्ष्मण और सीताजी की प्रतिमा के सामने ही भक्त हनुमान जी के वीर रूप की प्रतिमा स्थापित की गई थी, यह पुरातन प्रतिमा बावड़ी से मिली थी। मंदिर निर्माण के समय कुछ बाधाएं आ रही थीं, उसी समय आबा महाराज जी को स्वप्न हुआ कि प्रभु श्री राम के सामने हनुमान जी की वीररूप प्रतिमा स्थापित करने की वजह से परेशानियां आ रही हैं, यहां पर हनुमान जी दासरूप प्रतिमा स्थापित की जाए। इसके बाद वीररूप प्रतिमा के आगे हनुमान जी की हाथ जोड़े हुए दासरूप प्रतिमा स्थापित की गई। इसके बाद ही मंदिर का निर्माण कार्य पूरा हो पाया।

^मंदिर में राम जन्मोत्सव मनाया जाएगा, अभिषेक किया जाएगा तथा अन्य परंपराओं का निर्वहन होगा, लेकिन इस बार इसमें मंदिर के व्यवस्थापन में रहने वाले ही शामिल होंगे। कोरोना संक्रमण के कारण श्रद्धालुओं को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। प्रसाद वितरण भी नहीं किया जाएगा।
-उपेंद्र और राघवेंद्र शिरगांवकर, मंदिर के सेवादार

हे श्रीराम सबकी रक्षा करो...

आपदामपहर्तारं दातारं सर्वसम्पदाम्‌ । लोकाभिरामं श्रीरामं भूयो भूयो नमाम्यहम्‌ ॥

मैं इस संसार के प्रिय एवं सुंदर उन भगवान राम को बार-बार नमन करता हूं, जो सभी आपदाओं को दूर करने वाले तथा सुख-संपत्ति प्रदान करने वाले हैं। भर्जनं भवबीजानामर्जनं सुखसंपदाम्। तर्जनं यमदूतानां रामरामेति गर्जनम् ॥

राम-राम का जप करने से मनुष्य के सभी कष्ट समाप्त हो जाते हैं। वह समस्त सुख-संपत्ति तथा ऐश्वर्य प्राप्त कर लेता है। राम-राम की गर्जना से यमदूत सदा भयभीत रहते हैं।

आज रवि योग और अभिजीत मुहूर्त में मनाई जाएगी रामनवमी
राम नवमी 21 अप्रैल बुधवार के दिन अश्लेषा नक्षत्र, कर्क राशि स्थित चंद्र एवं उच्च राशिस्थ सूर्य, रवि योग तथा अभिजीत मुहूर्त में मनाई जाएगी। इस दिन दोपहर 12 बजे भगवान श्री राम का जन्मोत्सव अभिषेक षोडशोपचार, राजोपचार आदि प्रकार से पूजन किया जाएगा।
-पं. विजय भूषण वेदार्थी, ज्योतिषाचार्य

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें