पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना से लड़ाई:53 में से 19 नर्सिंग काॅलेज 30 तक संसाधन के साथ हाे जाएंगे तैयार

ग्वालियर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिन 53 नर्सिंग कॉलेजों ने अपने 50 से 100 ऑक्सीजन बेड के अस्पताल देने और साथ में नर्सिंग स्टाफ उपलब्ध कराने का भरोसा दिया था, उनमें से अब तक सिर्फ 19 ने ही तैयारी करने की बात कही है। कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने 53 नर्सिंग कॉलेज संचालकों को कलेक्ट्रेट में बुलाया था, लेकिन पहुंचे सिर्फ 19 ही। इन्होंने भी कलेक्टर से 30 जुलाई तक पूरी तरह से सभी संसाधन जुटाने का समय मांगा है।

शेष कॉलेजों की तरफ से कोई भी जानकारी नहीं दी गई है और न ही कोई भी एसडीएम नर्सिंग कॉलेजों में कोविड की तीसरी लहर से निपटने जुटाए जा रहे इंतजामों की हकीकत जानने पहुंचे हैं। कलेक्टर ने बीते दिनों प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट को यकीन दिलाया था कि तीसरी लहर से निपटने वे 8 से 10 हजार ऑक्सीजन बेड, नर्सिंग स्टाफ 2 महीने में जुटा लेंगे।

अपर कलेक्टर आशीष तिवारी ने सभी एसडीएम को 53 नर्सिंग कॉलेज उनकी तैयारियों की जांच के लिए दिए। आदेश बीते 9 जुलाई को जारी हुआ। 12 दिन बीत चुके हैं, एक भी एसडीएम नर्सिंग कॉलेजों और उनके अस्पतालों की स्थिति जानने नहीं पहुंचे। कॉलेज संचालकों ने कलेक्टर को बताया कि वे अभी तक सभी बेड पर ऑक्सीजन की व्यवस्था नहीं कर पाए हैं। हर कॉलेज संचालक ने 10 से 12 ऑक्सीजन सिलेंडर खरीदकर रखे हैं। बाइपेप खरीदने ऑर्डर कर दिए हैं। कलेक्टर ने हर हाल में 30 जुलाई तक पूरे संसाधन जुटाकर उन्हें प्रशासन के सपुर्द करने निर्देश दिए हैं।

खबरें और भी हैं...