पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

क्राइम ऑडिट:शहर में 6 माह में 275 महिलाओं को दहेज के लिए दी गई प्रताड़ना, 13 पीड़िताओं को जान गंवाना पड़ी

ग्वालियर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ग्वालियर में दहेज के लिए महिलाओं को रोज प्रताड़ित किया जा रहा है। अगर छह माह के आंकड़ों का विश्लेषण करें तो हर रोज महिलाओं के साथ मारपीट की जा रही है। उन्हें घर से निकाला जा रहा है। छह माह में ऐसी 275 महिलाएं हैं, जिन्हें दहेज के लिए प्रताड़ना दी गई। 13 पीड़िताओं को अपनी जान गंवाना पड़ी।

13 मामलों में दहेज हत्या और 19 मामले में आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का प्रकरण दर्ज किया गया। लगातार बढ़ रहे दहेज प्रताड़ना के मामलों को देखते हुए ही कुछ समय पहले ग्वालियर जोन के आईजी अविनाश शर्मा ने नवविवाहिताओं को प्रताड़ित किए जाने और इनकी मौत के मामले में त्वरित कार्रवाई के आदेश अफसरों को दिए गए थे। डबरा में महिला को एसिड पिलाने की घटना से पुलिस की कार्यप्रणाली पर एक बार फिर सवाल खड़े हो गए हैं। ग्वालियर की इस घटना ने प्रदेश को हिलाकर रख दिया है।

इन्हें दहेज के लिए ससुराल वालों ने किया प्रताड़ित

महिला थाना पुलिस ने दहेज प्रताड़ना की दो एफआईआर दर्ज की हैं। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार शिल्पी पुत्री कल्याणी सोनी निवासी गेंडेवाली सड़क की शादी 26 अप्रैल 2021 को परविंदर सोनी से हुई थी। शादी के बाद उसने दहेज के लिए प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। शिल्पी की शिकायत पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। उधर नवग्रह कॉलोनी निवासी शिवानी साहू ने पति सोनू साहू व ससुराल वालों पर दहेज प्रताड़ना का मामला दर्ज कराया है।

खबरें और भी हैं...