परीक्षाओं का आयोजन:मार्च की जगह अप्रैल में हो सकती हैं 5वीं और 8वीं की बोर्ड परीक्षा

ग्वालियर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश में 13 साल बाद इस साल कक्षा 5वीं और 8वीं की बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन होगा। कोरोना महामारी के कारण इन परीक्षाओं की तििथ आगे बढ़ सकती हैं। कोरोना के कारण ये परीक्षाएं वार्षिक कैलेंडर से आगे बढ़ेंगी। कैलेंडर के मुताबिक ये परीक्षाएं पहले मार्च में कराई जानीं थीं, लेकिन दोनों ही कक्षाओं की बोर्ड परीक्षाएं अप्रैल में कराई जा सकती है। इसकी एक वजह यह भी है कि मार्च तक कक्षा 8वीं तक के स्कूल बंद हैं।

इन परीक्षाओं को आगे बढ़ाने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग ने प्रस्ताव तैयार कर लिया है। शासन के परीक्षण और स्वीकृति उपरांत प्रस्ताव स्कूल शिक्षा के पास अंतिम रूप से मुहर के लिए भेज दिया जाएगा। इस हिसाब से परीक्षा अप्रैल के महीने में कराने की संभावना है।

यह भी रहेगा विकल्प

कोरोना के मामलों के बढ़ने पर वैकल्पिक तैयारियां भी की गई हैं। मामलों के बढ़ने पर अगर परीक्षा नहीं ली जाती है तो बच्चों के घर-घर वर्कशीट भेजकर होम बेस्ड परीक्षा ली जाएगी। वर्कशीट पर लिखने के बाद अभिभावक उसे स्कूल में जमा कराएंगे।

5वीं और 8वीं बोर्ड परीक्षाएं मार्च में कराना संभव नहीं हैं

प्रदेश सरकार ने मार्च तक कक्षा 8वीं के स्कूलों को बंद करने के आदेश दिए हैं। इसलिए कक्षा 5वीं और 8वीं की बोर्ड परीक्षाएं मार्च में कराना संभव नहीं है। फिलहाल विभाग से इस संबंध में कोई आदेश नहीं आए हैं। -विकास जोशी, जिला शिक्षाधिकारी

खबरें और भी हैं...