शादियों के मुहूर्त:6 दिन और शादियां, फिर एक माह का ब्रेक, इसके बाद के मुहूर्त वाले कोरोना की वजह से असमंजस में

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शादी-विवाह समारोह के कारण मंगलवार को महाराज बाड़ा पर खरीदारों की भीड़ रही। दोपहर 2:45 बजे। - Dainik Bhaskar
शादी-विवाह समारोह के कारण मंगलवार को महाराज बाड़ा पर खरीदारों की भीड़ रही। दोपहर 2:45 बजे।

देव प्रबोधनी एकादशी से शादियों के मुहूर्त शुरू हुए थे। तीन सहालग के बाद कोरोना संक्रमण कम हो गया था, इसलिए शादियां भी धूमधाम से हो रही थीं। अब 13 दिसंबर तक शादियों के मुहूर्त हैं। जनवरी और फरवरी के मुहूर्त वाले आशंकित हैं। उन्होंने जो तैयारियां की हैं, उनको लेकर वे वेट एंट वॉच की स्थिति में है।

इसका असर जनवरी और फरवरी में केटरिंग सर्विस की बुकिंग पर पड़ रहा है। जिन लोगों ने मैरिज गार्डन बुक नहीं किया है, वह सोच रहे हैं कि मैरिज गार्डन बुक करें या होटल में आयोजन करें या फिर घर में शादी की व्यवस्थाएं कर लें। देव प्रबोधनी एकादशी से शुरु हुए विवाह मुहूर्त 10 जुलाई 2022 देवशयनी एकादशी तक रहेंगे। हालांकि बीच में दो बार विवाह मुहूर्त पर रोक भी लगेगी। 15 दिसंबर से 14 जनवरी तक मलमास के कारण और इसके बाद 22 फरवरी से 14 अप्रैल तक गुरु तारा अस्त होने, होलाष्टक और मलमास के कारण विवाह मुहूर्त नहीं होंगे।

नवंबर-दिसंबर में 16 दिन विवाह मुहूर्त रहे हैं, इस दौरान शादियों की धूम रही है, लोगों ने शादियों में कोई कमी नहीं छोड़ी। कोरोना संक्रमण की वजह से जिन लोगों ने शादी समारोह स्थगित किए थे, उन्होंने भी इस दौरान शादी समारोह आयोजित कर लिए। दिसंबर में अब इस सप्ताह 5 दिन और विवाह मुहूर्त रह गए हैं। इस माह में अब 8,9,11,12,13 को विवाह मुहूर्त हैं। 15 दिसंबर से मलमास प्रारंभ होने से 14 जनवरी तक विवाह जैसे मांगलिक कार्य बंद रहेंगे।

जनवरी व फरवरी में 14 दिन ये रहेंगे विवाह मुहूर्त

  • जनवरी : 20, 22, 23, 27, 29, 30 तरीख।
  • फरवरी : 4, 5, 6, 7, 10, 18, 19, 20 तारीख।
  • अप्रैल : 15, 19, 20, 21, 22, 23, 24, 27 तारीख।
  • मई : 2, 3, 4, 9, 10, 11, 12, 18, 20, 21, 24, 25, 26, 27, 31 तारीख।
  • जून : 1, 5, 6, 8, 10, 11, 14, 17, 20, 21, 22, 23
  • जुलाई : 3, 4, 6, 7, 8, 9 तारीख।

नोट- 22 फरवरी से 23 मार्च तक गुरु तारा अस्त होने के कारण विवाह जैसे मांगलिक कार्य बंद रहेंगे। 10 मार्च से 18 मार्च तक होलाष्टक एवं 14 मार्च से 14 अप्रैल तक मलमास रहने से विवाह मुहूर्त नहीं रहेंगे।

जनवरी-फरवरी की तैयारियों पर असमंजस

जिनके घर में जनवरी और फरवरी में शादियाें के मुहूर्त निकले हैं वह असमंजस में हैं। कोरोना के केस बढ़ने से वह तय नहीं कर पा रहे हैं तैयारियां कैसे करें। मैरिज गार्डन में आयोजन की स्थिति रहेगी या नहीं, होटल बुक करें या घर पर ही शादी का आयोजन कर दें।

आयोजकों ने इंतजार करने को कहा है

नवंबर-दिसंबर में शादियां धूमधाम से हुई हैं, लेकिन जनवरी-फरवरी में कोरोना संक्रमण की आशंका के चलते लोग तय नहीं कर पा रहे हैं कि शादी किस तरह करें। कुछ आयोजकों ने दिसंबर में इंतजार करने के लिए कहा है, इसके बाद वह बुकिंग की सहमति देंगे। फरवरी के मुहूर्त वाले मैरिज गार्डन बुक करने से झिझक रहे हैं। -रवि चौबे, केटरिंग एवं मैरिज गार्डन संचालक

तैयारियां करें या नहीं असमंजस में हैं

मेरी बेटी की शादी नए साल, फरवरी में होना प्रस्तावित है लेकिन कोरोना वायरस का संक्रमण दोबारा आ गया है, ऐसे में शादी के लिए किस तरह की तैयारियां करें यह अभी तय नहीं कर पा रहे हैं। असमंजस में हैं।

-ओमकार सिंह, जनकगंज

खबरें और भी हैं...