• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • 84 Sacks Of Manure Were Being Taken To Sell In Black In Morena, The Farmers Created A Ruckus, The Manure Was Caught Due To Border Crossing

ग्वालियर-मुरैना बॉर्डर पर पकड़ी खाद...:84 बोरी खाद मुरैना में ब्लैक में बेचने ले जाई जा रही थी, किसानों ने किया हंगामा, बॉर्डर क्रॉस होने से पकड़ी खाद

ग्वालियर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ग्वालियर-मुरैना बॉर्डर पर पकड़ी गई खाद की 84 बोरी, पुलिस ने की एफआईआर - Dainik Bhaskar
ग्वालियर-मुरैना बॉर्डर पर पकड़ी गई खाद की 84 बोरी, पुलिस ने की एफआईआर
  • - किसान कल्याण एवं कृषि विकास अधिकारी ने की कार्रवाई

ग्वालियर-चंबल अंचल में खाद का संकट गहराता जा रहा है। यहां किसानों को खाद नहीं मिल रहीं हैं। भिंड-मुरैना में खाद लूट के मामले भी हो चुके हैं। खाद संकट गहराते ही कालाबाजारी करने वाले सक्रिय हो गए हैं। इसी बीच किसान कल्याण एवं कृषि विकास अधिकारी ने सोमवार शाम ग्वालियर-मुरैना बॉर्डर पर 84 बोरी खाद जब्त की है।

यह खाद ग्वालियर जिले के कोटे की थी जिसे व्यापारी द्वारा मुरैना के लिए भेजा जा रहा था। इनमें 42 बोरी DAP और 42 बोरी यूरिया की हैं। पूरे मामल को जब्त कर लिया है। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह खुद पूरे मामले की निगरानी कर रहे हैं। कलेक्टर सिंह ने खाद संकट में खाद की कालाबाजारी करने वालों पर रासुका के तहत कार्रवाई की घोषणा की है। इस मामले में पुरानी छावनी थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है।

खाद पकड़े जाने के बाद पहुंचे किसान, किसानों का आरोप 1200 का डीएपी की बोरी 1400 रुपए में बेची जा रही है
खाद पकड़े जाने के बाद पहुंचे किसान, किसानों का आरोप 1200 का डीएपी की बोरी 1400 रुपए में बेची जा रही है

कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने स्पष्ट किया कि ग्वालियर जिले के कोटे का खाद जिले के किसानों में ही वितरित होगा, यदि इसे किसी भी खाद दुकानदार ने खुर्द-बुर्द करने की कोशिश की तो उसके खिलाफ पुलिस कार्रवाई होगी। उन्होंने साफ किया कि जिले के किसानों के हिस्से का खाद जिले के किसानों को ही वितरित होगा। उप संचालक किसान कल्याण एवं कृषि विकास एम के शर्मा ने बताया कि सोमवार शाम पता चला था रायरू फार्म मुरैना रोड स्थित रोहित व मोहित जैन की खाद दुकान से DAP और यूरिया की 42-42 बोरी मुरैना जिले की ओर भेजी जा रहीं हैं। इस सूचना पर तत्काल कार्रवाई कर खाद की ये बोरियां जब्त कर लीं गईं हैं। उन्होंने बताया कि हर जिले के लिए विभाग द्वारा खाद का कोटा निर्धारित होता है, उस खाद को दूसरे जिले में भेजना अवैध है। उप संचालक कृषि शर्मा ने बताया कि खाद की अवैध बिक्री करने वाले दुकानदारों के खिलाफ विभागीय प्रावधानों के तहत कार्रवाई की जा रही है। साथ ही पुलिस में भी प्रकरण दर्ज कराया जाएगा।
खाद संकट में कालाबाजारी की तो लगेगी रासुका
कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने स्पष्ट किया खाद की कालाबाजारी और वितरण में गड़बड़ी करने वालों पर रासुका ( राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) लगाई जाएगी। उन्होंने जिला प्रशासन , किसान कल्याण एवं कृषि विकास , सहकारिता तथा खाद वितरण से जुड़े अन्य विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि खाद वितरण पर कड़ी निगरानी रखें। जिस भी खाद दुकान पर गड़बड़ी दिखे उसके संचालक के खिलाफ पुलिस में FIR दर्ज कराएं। साथ ही रासुका की कार्रवाई भी प्रस्तावित करें। उन्होंने साफ किया खाद वितरण में जरा सी भी अनियमितता बर्दाश्त नहीं होगी। कलेक्टर सिंह ने सोमवार की शाम रायरू में जब्त हुए खाद को जिले से बाहर भेजने की जुर्रत करने वाले खाद दुकानदारों के खिलाफ रासुका की कार्रवाई प्रस्तावित करने की हिदायत भी दी है।
किसानों ने कलेक्टोरेट पर किया हल्ला बोल प्रदर्शन
सोमवार को मध्यप्रदेश किसान सभा (AIKS) औऱ संयुक्त मोर्चा की ओर से खाद की कालाबाजारी को लेकर ग्वालियर के कलेक्टोरेट पर प्रदर्शन किया गया था। किसान सभा के ओर से अखिलेश यादव ने बताया कि प्रदर्शन के बाद SDM के निर्देश पर तहसीलदार को लेकर पुतलीघर घर स्थित खाद के गोदाम पर पहुचे औऱ खाद वितरण व्यवस्था को ठीक कराने का प्रयास किया, लेकिन मूल समस्या है कि खाद वितरण केंद्रों की संख्या बढ़ाई जाए। प्राइवेट डीलरों द्वारा खाद को डम्प करके उसे ऊंची दामो पर बेची जा रही है, नकली खाद का बोलबाला है, औऱ कालाबाजारी करने वालो की पकड़ सत्ता और प्रसाशन तक है जब तक उन्हें ठीक नही किया जाएगा तब तक समस्या का समाधान नही हो सकता। प्रदर्शन में अखिलेश यादव, अलबेल सिंह राणा, रामबाबू जाटव, भगवान सिंह गुर्जर, पूरन सिंह राणा, तलविंदर सिंह, पूर्व पार्षद भगवान दास सैनी, राकेश सिह सिकरवार, वकील सिंह लोधी, सहित तमाम किसान शामिल थे

खबरें और भी हैं...