पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • A 4 year old Girl Fell In The Open Sewage Chamber On The Road, Her Head Cracked, The Young Man Saved Her Life From The Mud

हादसा:सड़क पर खुले सीवेज चैंबर में गिरी 4 साल की बच्ची सिर फटा, युवक ने कीचड़ से निकालकर बचाई जान

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मां और चचेरी बहन के साथ डॉक्टर के यहां से घर लौट रही थी बच्ची
  • मुरार छावनी क्षेत्र में काशीपुरा की घटना, शहर में जगह-जगह खुले पड़े हैं चैंबर

शहर में सड़कों पर खुले सीवर चैंबर लोगों की जान के लिए खतरा बन गए हैं। मंगलवार को मां के साथ घर जा रही चार साल की वंशिका ऐसे ही एक सीवर चैंबर में जा गिरी। बच्ची एवं उसकी मां के चिल्लाने पर थाेड़ी दूरी पर खड़ा गोलू यादव दौड़कर पहुंचा, तभी बच्ची चैंबर के गंदे पानी से ऊपर की ओर आई। युवक ने तत्परता दिखाते हुए बच्ची काे हाथ पकड़कर सीवर चैंबर से बाहर खींच लिया। हादसे में बच्ची कीचड़ के साथ खून से भी लथपथ हो गई। उसके सिर में चाेट आई। गोलू और अन्य लोग उसे इलाज के लिए अस्पताल ले गए। घटना मुरार छावनी क्षेत्र के काशीपुरा में दोपहर 12 बजे घटित हुई। शर्मनाक ये है कि घटना के पांच घंटे बाद छावनी क्षेत्र के इंजीनियर नरेंद्र रावत ने मौके पर स्टाफ भेजा। स्टाफ बमुश्किल घटना स्थल की तलाश कर पाए। रावत को यह तक नहीं मालूम कि छावनी क्षेत्र में कितनी लंबी सीवर लाइनें और चैंबर हैं। जबकि पूरा मेंटेनेंस का काम वे खुद देख रहे हैं। उनका तर्क है कि सीईओ मोहम्मद अली को जानकारी हैं। वे ही इस बारे में बता सकेंगे।

मुरार छावनी बोर्ड करता है मेंटेनेंस
मुरार छावनी क्षेत्र में 7 वार्ड आते हैं। इनमें 2000 से ज्यादा सीवर चैंबर हैं। सीवर लाइन, चेंबरों के मेंटेनेंस और साफ-सफाई छावनी बोर्ड के अधिकारी के जिम्मे है, लेकिन इस काम में लापरवाही होती है।

मां के पीछे-पीछे चल रही थी वंशिका, खुले चैंबर काे नहीं देख पाई और हादसा हो गया
काशीपुरा क्षेत्र में सुंदरनगर के पास रहने वाली वंशिका पुत्री प्रेम सिंह कुशवाह अपनी मां के साथ डाॅक्टर के यहां गई थी। उनके साथ वंशिका की चचेरी बहन भी थी। इसे ही वे डाॅक्टर काे दिखाने गए थे। जब वह तीनाें घर लौटकर आ रहे थे, ताे मां थी और वंशिका पीछे चल रही थी। उसकी नजर खुले सीवर चैंबर पर नहीं पड़ी और वह उसमें जा गिरी। आवाज सुनकर गाेलू यादव सबसे पहले पहुंचा और उसने बच्ची काे हाथ पकड़कर चैंबर से बाहर खींच लिया। हादसे में बच्ची के माथे में चाेट लगी है। उसे चार टांके लगाए गए हैं।

घटना की मुझे कोई जानकारी नहीं है
मुझे यह नहीं मालूम कि छावनी क्षेत्र के वार्डाें में कितने सीवर चैंबर हैं और कितनी लंबी लाइनें हैं। घटना के बारे में भी कोई जानकारी नहीं है। आप सीईओ से पूछें, वे ही अधिकृत हैं।

-नरेंदोषियों के खिलाफ एक्शन लूंगा
यह गंभीर मामला है कि सीवर चैंबर खुला पड़ा था और उसमें बच्ची गिर गई। इस मामले की पूरी रिपोर्ट लेकर संबंधित के ऊपर एक्शन लिया जाएगा, ताकि भविष्य में कोई घटना न हो।
-मोहम्मद अली, सीईओ छावनी क्षेत्र

रियल हीरो: सीवर के चैंबर में गिरी बच्ची को खींचकर बाहर निकाला
मैं घर के पास खड़ा था। सामने से वंशिका चली आ रही थी। उसकी मां आगे चल रही थी और पीछे बच्ची। अचानक वह सड़क पर खुले सीवर के चैंबर में जा गिरी। यह देखकर मैं दौड़कर वहां पहुंचा। सीवर चैंबर की गंदी की परवाह किए बिना मैंने चैंबर के अंदर हाथ डाल दिया, तभी बच्ची ऊपर की ओर आई। मैंने हाथ पकड़कर उसे बाहर खींच लिया। वह गंदगी से लथपथ थी और रो रही थी। उसके माथे से खून निकल रहा था। पानी डालकर बच्ची को अस्पताल ले गए।

-गाेलू यादव, जिसने बच्ची की जान बचाई

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें