कोरोना का तर्पण:सर्वपित्र मोक्ष अमावस्या पर ग्वालियर में एक्टिव केस हुए शून्य

ग्वालियर18 दिन पहलेलेखक: अभिषेक द्विवेदी
  • कॉपी लिंक

ग्वालियर वासियों ने सर्व पितृ मोक्ष अमावस्या पर बुधवार को कोरोना का भी तर्पण कर दिया। जिले में कोरोना पर जीत हासिल करने में 18 महीने, 12 दिन लगे। ग्वालियर में पहला मरीज 24 मार्च 2020 को चेतकपुरी निवासी अभिषेक मिश्रा के रूप में सामने आया था। इसके बाद से एक भी दिन ऐसा नहीं गया जब एक्टिव केस शून्य रहा हो।

आखिरकार सर्व पितृ अमावस्या के दिन यह शुभ घड़ी भी आ गई जब ग्वालियर में पिछले 12 दिन से काेई नया संक्रमित नहीं मिला और बुधवार को एक्टिव केस की संख्या 0 हो गई। वहीं पिछले 111 दिन से कोरोना संक्रमण के चलते किसी भी मरीज की मौत नहीं हुई है। जिले में कोरोना संक्रमण से आखिरी मौत 18 जून को हुई थी। जिले को कोरोना से मुक्ति मिल जाने पर डॉक्टर्स के साथ जिला प्रशासन ने भी राहत की सांस ली है।

24 अप्रैल 2021 को सबसे अधिक 1305 कोरोना संक्रमित मिले और सबसे अधिक 38 मरीजों की हुई थी मौत

पूरे कोरोना काल में एक दिन में सबसे अधिक कोरोना संक्रमित मरीज 24 अप्रैल 2021 को मिले थे। इतना ही नहीं 24 घंटे में सबसे अधिक 38 मरीजों की मौत इसी दिन हुई थी। सबसे अधिक संक्रमित अप्रैल में मिले थे, लेकिन सबसे अधिक 520 मरीजों की मौत मई 2021 में हुई थी।

बीते साल सितंबर में 5480 संक्रमित मरीज मिले थे, जिसमें से 104 मरीजों की मौत हो गई थी। ज्ञात रहे कि जिले में 2021 अप्रैल में 118505 सैंपलों की जांच में सबसे ज्यादा 22079 काेरोना संक्रमित मरीज मिले थे और कोरोना से 362 मरीजों की मौत हुई थी।

खबरें और भी हैं...