पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Adequate Resources And Staff With The Railways, City Train Can Be Run As A Trial, The Officials Are Reluctant By Saying That The Proposal Is Not Coming.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नैरोगेज:रेलवे के पास पर्याप्त संसाधन और स्टाफ, ट्रायल के तौर पर चलाई जा सकती है सिटी ट्रेन, प्रस्ताव न आने की बात कहकर अफसर कर रहे आनाकानी

ग्वालियर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • ग्वालियर से सबलगढ़ और श्योपुर ट्रैक को ब्रॉडगेज में परिवर्तन करने का चल रहा है काम, इसलिए अब ट्रेन नहीं चल पाएगी

रेलवे स्टेशन डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन (आईआरएसडीसी) की टीम ने हाल में नैरोगेज को सिटी ट्रेन के तौर पर चलाने के लिए साइट का सर्वे किया था। टीम ने ग्वालियर स्टेशन से मोतीझील तक 8 किमी के दायरे में सिटी ट्रेन के तौर पर चलाने के लिए सुझाव दिया है। सिंधिया रियासत की विरासत को जिंदा रखने और पर्यटकों को लुभाने के लिए यह ट्रेन चला सकते हैं। अब जानकार कह रहे हैं कि एक साल से ग्वालियर-सबलगढ़ और श्योपुर के बीच चलने वाली नैरोगेज ट्रेन रद्द है।

इस ट्रेन के 42 कोच और 11 इंजन रेलवे स्टेशन के यार्ड में खड़े हैं। इसके साथ ही ग्वालियर रेलवे स्टेशन से लेकर मोतीझील तक ट्रैक भी बना हुआ है। इस कारण इस ट्रेन को ट्रायल के तौर पर चलाया जा सकता है। ऐसा हाेने पर लोगों का इस ट्रेन के प्रति रुझान पता चल जाएगा।

आईआरएसडीसी का सुझाव...हेरिटेज लुक में तैयार किए जाएं कोच
आईआरएसडीसी ने अपने सर्वे में कहा है कि नैरोगेज ट्रेन हेरिटेज लुक में होना चाहिए। इससे पर्यटक आकर्षित होंगे। सिटी ट्रेन के तौर पर 2 से 4 कोच की ट्रेन चला सकते हैं। इस ट्रेन के चलने से ट्रैफिक भी कम होगा। कांकड़ा में चलने वाली नैरोगेज की तरह ग्वालियर की नैरोगेज भी पर्यटकों के बीच चर्चा का विषय बनेगी।

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला से शुरू होकर कालका तक जाने वाली नैरोगेज ट्रैक को वर्ल्ड हैरिटेज दर्जा दिया गया है। ये विश्व धरोहर रेल मार्ग पहाड़ों और घुमावदार मोड़ों से होकर पहाड़ों की रानी शिमला तक सैलानियों को पहुंचाता है। इससे पर्यटकों के बीच यह ट्रेन सबसे अधिक पसंदीदा है। इस तरह ग्वालियर में सिटी ट्रेन के तौर पर चलाने पर पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।
संसाधन पर्याप्त, सिटी ट्रेन के तौर पर चला सकते हैं

  • नैरोगेज ट्रेन एक साल से रद्द है। पर्यटन को बढ़ावा देने और विरासत को जिंदा रखने के लिए रेलवे ट्रायल के तौर पर 2 से 4 कोच की नैरोगेज को सिटी ट्रेन के तौर पर ग्वालियर से मोतीझील के बीच चला सकते हैं। इससे रेलवे को लोगों का नैरोगेज के प्रति कितना रुझान है। रेलवे के पास पर्याप्त संसाधन है। ट्रैक भी उपलब्ध है। - राजेश शुक्ला, रिटायर्ड डिप्टी एसएस (ऑपरेटिंग), झांसी मंडल

प्रस्ताव मिला तो सिटी ट्रेन चलाने का परीक्षण करेंगे

  • नैरोगेज ट्रेन को सिटी ट्रेन के तौर पर चलाने का प्रस्ताव मुख्यालय के पास अभी तक नहीं आया है। यदि आईआरएसडीसी ने अपने सर्वे में जिला प्रशासन को नैरोगेज को सिटी ट्रेन के तौर पर चलाने का सुझाव दिया है और रेलवे के पास प्रस्ताव आता है तो इसका परीक्षण कराया जाएगा। इसके बाद सिटी ट्रेन को चलाने का निर्णय होगा। - अजीत कुमार सिंह, सीपीआरओ, प्रयागराज मुख्यालय
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आपका संतुलित तथा सकारात्मक व्यवहार आपको किसी भी शुभ-अशुभ स्थिति में उचित सामंजस्य बनाकर रखने में मदद करेगा। स्थान परिवर्तन संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए समय अनुकूल है। नेगेटिव - इस...

    और पढ़ें