पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ग्वालियर में भी तैयारी:एडीएम ने निजी अस्पताल संचालकों से मांगी मौजूदा संसाधनाें की जानकारी

ग्वालियर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना की तीसरी लहर बच्चों के लिए घातक होने की आशंका जताई जा रही है। इससे निपटने की तैयारियों को लेकर एडीएम आशीष तिवारी ने बुधवार को शहर के निजी अस्पताल संचालकों की बैठक बुलाई। इसमें एडीएम ने हॉस्पिटल संचालकों से अस्पताल में मौजूद संसाधनों का ब्यौरा मांगा।

उन्हाेंने अस्पताल में उपलब्ध बेड, स्टाॅफ और ऑक्सीजन की व्यवस्था आदि की जानकारी सीएमएचओ कार्यालय काे भिजवाने काे कहा है। इसके साथ ही निजी अस्पतालाें में ऑक्सीजन प्लांट लगवाने और काेविड के बच्चाें का इलाज करने वाले पीडियाट्रिशियन काे जीआरएमसी में एक दिन की ट्रेनिंग दिलवाने के निर्देश भी दिए।

शहर में 24 हॉस्पिटल ऐसे हैं जिनमें सिर्फ बच्चों का इलाज होता है। इन हॉस्पिटल के संचालकों ने बताया कि बच्चों के इलाज वाले अस्पतालों में 363 बिस्तर हैं। इसके अलावा कमलाराजा चिकित्सालय ( केआरएच) में 16 बेड का बच्चाें का आईसीयू मिलाकर 172 बेड हैं। शहर में एसएनसीयू में 120 रेडियंट वार्मर और बच्चाें के आईसीयू के 50 बिस्तर हो गए हैं।

खबरें और भी हैं...