मौसम में बदलाव:7 घंटे की तपन के बाद शाम को छाए बादल, रात का पारा 3.3 डिग्री सेल्सियस चढ़ा

ग्वालियर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिंदे की छावनी पर पसरा सन्नाटा। समय: दोपहर 3 बजे। - Dainik Bhaskar
शिंदे की छावनी पर पसरा सन्नाटा। समय: दोपहर 3 बजे।

राजस्थान से आने वाली गर्म हवा ने दो दिन से बेचैनी बढ़ा दी है। बीते रोज की तरह गुरुवार को सुबह 10 बजे से ही गर्म हवा चली। इस दौरान अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया। 7 घंटे तक तपिश वाली गर्मी से शहरवासी परेशान रहे। हालांकि शाम 4 बजे के बाद बादल छा गए। इससे गर्म हवा से थोड़ा राहत मिल गई। हालांकि शाम 5 बजे तक पारा 40 डिग्री सेल्सियस के करीब रहा।

24 घंटे के दौरान दिन के तापमान में 0.9 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई। जबकि रात का तापमान 3.3 डिग्री सेल्सियस बढ़त के साथ दर्ज हुआ। मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता और राजस्थान के ऊपर बने प्रेरित चक्रवात के चलते अगले 24 घंटे के दौरान ग्वालियर-चंबल संभाग में बादल छाएंगे। साथ ही कुछ स्थानों पर बूंदाबांदी भी हो सकती है।

दो दिन बाद तापमान में आएगी गिरावट: अभी राजस्थान की ओर से सीधे गर्म हवा आ रही हैं। इससे अभी दो दिन तक अधिकतम तापमान सामान्य से ऊपर रहेगा। लेकिन शुक्रवार को आंधी आने के साथ बूंदाबांदी के आसार हैं। इससे 1 या 2 मई से तापमान में गिरावट आ जाएगी। इससे गर्मी से थोड़ा राहत मिल जाएगी। इस समय कोरोना वायरस का संक्रमण चल रहा है, जिसके चलते शहर की सड़कों में पूरी दिन सन्नाटा पसरा रहता है। लेकिन तापमान अधिक होने के कारण लोग घर के अंदर भी गर्मी से परेशान हैं।

खबरें और भी हैं...