• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • After Putting A Noose Around The Neck Of A Three year old Innocent Son, A 7 month old Pregnant Mother Also Hanged, Both Died, Wrote In The Suicide Note, I Am Saddened By This Life

3 साल के बेटे संग फंदे पर झूली गर्भवती:5 पेज के सुसाइड नोट में लिखा- मैं जीवन से दुखी हो गई हूं, अब खुश रहना तुम्हारे रास्ते का कांटा हट गया

ग्वालियर10 महीने पहले
प्रीति को सेल्फी लेने का बहुत शौक था, यह उसकी मायके में आखिरी सेल्फी है, जो उसने रक्षाबंधन पर ली थी।

ग्वालियर में सोमवार शाम 7 महीने की गर्भवती ने 3 साल के बेटे के साथ फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। महिला ने 5 पेज का सुसाइड नोट भी छोड़ा है। इसमें उसने ससुराल वालों पर परेशान करने का आरोप लगाया है। पति से कहा है कि अब तो आप खुश रहोगे, तुम्हारे के रास्ते का कांटा हट गया। यह भी लिखा है कि मैं जीवन से दुखी हो गई हूं।

मुरैना की रहने वाली प्रीति प्रजापति (28) की शादी 8 साल पहले ग्वालियर के हजीरा माधवी नगर के रहने वाले राजकुमार प्रजापति (30) से हुई थी। राजकुमार वॉल पुट्‌टी का कारीगर है। घर में मां-पिता के अलावा बड़ा भाई और भाभी भी है। शुरुआत में सब कुछ ठीक रहा, लेकिन उसके बाद राजकुमार को जुए और शराब की लत लग गई। इसके बाद उसने पत्नी के साथ मारपीट शुरू कर दी। इसी बीच 3 साल पहले प्रीति ने बेटे को जन्म दिया। उसका नाम कुनाल रखा। बेटा होने के बाद भी पति, सास, जेठ, जेठानी दहेज के लिए दबाव बनाने लगे।

प्रीति 7 महीने की गर्भवती थी। सोमवार को राजकुमार और उसका बड़ा भाई काम पर गया था। सास और जेठानी किसी काम से बाहर गई थीं। इसी बीच शाम को प्रीति ने साड़ी से फंदा बनाकर बेटे सहित फांसी लगा ली। घटना का खुलासा उस समय हुआ, जब पड़ोस की एक महिला उनके घर पहुंची। तत्काल मामले की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना पर CSP रवि भदौरिया, TI हजीरा आलोक सिंह परिहार मौके पर पहुंचे। पुलिस ने शवों को निगरानी में लेकर जांच शुरू की है।

प्रीति की शादी 8 साल पहले हुई थी।
प्रीति की शादी 8 साल पहले हुई थी।

आसपास के लोग जब अंदर पहुंचे, तो कुछ पल के लिए लगा कि प्रीति बच्चे को गोद में लेकर खड़ी है, लेकिन जब दोनों के गले में साड़ी का फंदा देखा तो माजरा समझ में आया। सूचना मिलते ही मुरैना से प्रीति की मां, भाई व पिता मौके पर पहुंच गए। उसके बाद ही पुलिस ने शवों को नीचे उतारा।

मां ने कहा- तीनों की हत्या की गई है
प्रीति की मां पार्वती का कहना है कि बेटी, नाती कुनाल और पेट पल रहा गर्भ तीनों की हत्या की गई है। उनको मारकर फांसी का रूप दिया गया है। कुछ महीने पहले प्रीति के पेट में उसके जेठ जीतू ने लात मारी थी। इसके बाद हम बेटी को घर ले गए थे। जन्माष्टमी पर राजकुमार उसे वापस ले आया था। प्रीति नहीं आना चाहती थी, लेकिन उसने आत्महत्या की धमकी दी थी। इसलिए बेटी को भेजना पड़ा।

मैं जा रही हूं तुम अपनी दुनिया में खुश रहना
प्रीति ने 5 पेज का सुसाइड नोट छोड़ा है। उसने शादी से लेकर मौत के चंद सेकंड पहले तक हर एक बात का जिक्र किया है। उसने मौत के लिए पति, सास, जेठ व जेठानी को जिम्मेदार ठहराया है। उसने लिखा है कि इस जीवन से अब में दुखी हो चुकी हूं। जब शादी हुई थी, तो कई सपने थे। पति भी ठीक रहता था। उसके बाद पति जुआ, शराब पीने लगे। मेरी जिंदगी नरक होती चली गई। मैं और मेरा बेटा जान दे रहे हैं। अब आप खुश रहना। आपके रास्ते कांटा हट गया है। इतना ही नहीं प्रीति ने अपने ऊपर हो रहे हर जुर्म का जिक्र सुसाइड नोट में लिखा है। उसने यह भी लिखा है कि उसके गर्भवती होने पर कैसे जेठ ने उसे लात मारी।

खबरें और भी हैं...