सूबेदार के बैग चोरी में हाथ लगा क्लू:वारदात के बाद 24 से ज्यादा CCTV कैमरे खंगाले तब मिला सुराग

ग्वालियर6 दिन पहले

ग्वालियर पुलिस को चार दिन पहले पोस्ट ऑफिस पर पैसे निकालने आए रिटायर्ड सूबेदार के बैग सहित एक लाख रुपए चोरी कर फरार तीनों नाबालिग चोरों के खिलाफ कुछ अहम सबूत हाथ लगे हैं। बैग चोरी कर बाइक पर भागे चोरों का एक CCTV पुटेज भी सामने आया था। जिसके बाद CCTV के आधार पर पुलिस ने करीब 2 दर्जन से अधिक कैमरे चेक कर कड़ी जोड़ते हुए सबूत जुटाए हैं। पुलिस अधिकारी का कहना है कि जल्द ही पैसों से भरा बैग चोरी करने वाले तीनों नाबालिग चोर उनकी गिरफ्त में होंगे।

यह था पूरा मामला

ग्वालियर थाना क्षेत्र इलाके के कोटेश्वर तिराहे के पास रहने वाले 55 वर्षीय जनार्दन सिंह सेवानिवृत्त सुबेदार है। बता दें कि 14 सितम्बर 2022 को जनार्दन सिंह को घर में कुछ पैसों की जरूरत थी इसलिए वह कोटेश्वर तिराहे पर बने डाक खाने में पैसे निकालने गए थे। जनार्दन सिंह ने डाकघर से अपने खाते से 1 लाख रुपए निकाले थे। पैसे निकालकर वह घर के लिए निकल ही रहे थे तभी उनका एक परिचित उन्हें मिल गया काफी दिनों बाद उनका पुराना जान पहचान वाला उनसे मिला था इसलिए वह पैसों से भरा अपना बैग पोस्ट ऑफिस से कंधे पर रखकर परिचित से बात करने में व्यस्त हो गए। इसी का मौका पाकर डाक घर पर आए तीन नाबालिग चोरों ने काउंटर पर रखे बैग को चुरा लिया और बाइक पर सवार होकर फरार हो गए। पहचान वाले से बात करते हुए जनार्दन सिंह ने पीछे पलट कर काउंटर पर देखा तो उनका बैग वहां से गायब था। बैग गायब होते ही रिटायर्ड सूबेदार जनार्दन सिंह ने पोस्ट ऑफिस पर शोर मचाना शुरू कर दिया लेकिन नाबालिग चोर पहले ही बैग लेकर भाग चुके थे जिसकी शिकायत जनार्दन सिंह ने थाने में दर्ज कराई थी।

CCTV फुटेज आए थे सामने

जब पुलिस ने पोस्ट ऑफिस के आसपास लगे CCTV चेक किए तो पुलिस को बैग चोरी कर बाइक पर भागते तीन चोर दिखाई दिए थे। पुलिस ने CCTV की चेन बनाकर 2 दर्जन से अधिक CCTV चेक किए तो पुलिस के हाथ कुछ और चोरों के खिलाफ अहम सबूत मिले हैं। सबूतों के आधार पर पुलिस जल्दी चोरों को अपनी गिरफ्त में ले लेगी।

पुलिस का कहना

ग्वालियर थाने के एडिशनल एसपी अभिनव चौकसे का कहना है कि रिटायर्ड सूबेदार के एक लाख रुपए चोरी करने वाले तीनों नाबालिग चोरों के खिलाफ कुछ महत्वपूर्ण सबूत हाथ लगे हैं जिसके आधार पर हम जल्दी ही चोरों को पकड़ लेंगे।