• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Antibodies Found In 304 Out Of 400 Children; Expert Said Most Children Are Safe From Corona Infection

न्यूट्रिलाइजिंग एंटीबॉडी टेस्ट:400 बच्चों में से 304 में मिली एंटीबाॅडी; विशेषज्ञ बोले - अधिकांश बच्चे कोरोना संक्रमण से सुरक्षित

ग्वालियर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एंटीबॉडी की ताकत का पता करने के लिए ही एंटीबॉडी बाइंडिंग टेस्ट के साथ ही न्यूट्रिलाइजिंग एंटीबॉडी टेस्ट किया गया था। फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
एंटीबॉडी की ताकत का पता करने के लिए ही एंटीबॉडी बाइंडिंग टेस्ट के साथ ही न्यूट्रिलाइजिंग एंटीबॉडी टेस्ट किया गया था। फाइल फोटो

1 से 18 साल तक के बच्चों में कोरोना संक्रमण के प्रसार का पता करने के लिए कराए गए न्यूट्रिलाइजिंग एंटीबॉडी टेस्ट का परिणाम आ गया है। कुल 400 सैंपल में से 304 (170 लड़के और 134 लड़कियां) में एंटीबॉडी मिलीं। यानी कि 76 फीसदी बच्चे ऐसे हैं, जो जांच में कभी भी कोविड पॉजिटिव नहीं आए, लेकिन उनके शरीर में कोरोना संक्रमण होने के बाद बनने वाली एंटीबॉडी बनीं।

टेस्ट में बच्चों में एंटीबॉडी इतनी शक्तिशाली मिलीं कि वे कोरोना वायरस से लड़ने में सक्षम हैं। यहां बता दें कि एंटीबॉडी की ताकत का पता करने के लिए ही एंटीबॉडी बाइंडिंग टेस्ट के साथ ही न्यूट्रिलाइजिंग एंटीबॉडी टेस्ट किया गया था। महामारी विशेषज्ञ डाॅ. चंद्रकांत लहारिया ने कहा- देशभर में हुए सीरो सर्वे में भी यही परिणाम सामने आया है। ये आंकड़ा आश्वस्त करता है कि ग्वालियर के अधिकांश बच्चे कोरोना वायरस से लड़ने में सक्षम हैं।

किस आयु वर्ग में कितनी सैंपलिंग, कितनों में एंटीबाॅडी

सर्वे के परिणाम के आधार पर बनाएंगे आगे की रणनीति
सीरो सर्वे के परिणाम हमारे सामने हैं। कोरोना की संभावित तीसरी लहर छोटे बच्चों के लिए ही घातक बताई जा रही है। ऐसे में इन परिणामों के आधार पर ही विशेषज्ञों के साथ बैठकर रणनीति तैयार करेंगे।
कौशलेंद्र विक्रम सिंह, ग्वालियर

खबरें और भी हैं...