• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Argument Over Treatment In KRH, Angered By Complaint, First Attendant Beat Up Then Juda Beat Road Openly, Doctors Went On Strike

अस्पताल में बहस, सड़क पर गुंडागर्दी:ग्वालियर में शिकायत से भड़के जूनियर डॉक्टर; पहले अटेंडेंट ने मारा, फिर डॉक्टरों ने की पिटाई

ग्वालियर7 महीने पहले
जूनियर डॉक्टर सड़क पर अटेंडेंट से मारपीट करते हुए।

ग्वालियर के कमलाराजा हॉस्पिटल (KRH) में जूडा डॉक्टर से हुई बहस सड़क पर मारपीट तक आ गई। हॉस्पिटल में एक बच्चे को ब्लड चढ़ाने के दौरान अटेंडेंट की डॉक्टरों से बहस हो गई। उसने मैनेजमेंट से शिकायत कर दी। डॉक्टरों ने आपत्ति जताई तो अटेंडेंट और उसके साथियों ने एक जूनियर डॉक्टर को पीट दिया। यह घटना गुरुवार रात की थी। इसके दूसरे दिन शुक्रवार की रात बदला लेने के लिए जूनियर डॉक्टरों ने फूलबाग पर अटेंडेंट को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा और गाड़ियों में तोड़फोड़ कर दी।

हंगामे की सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। अटेंडेंट पड़ाव थाने पहुंचा तो पीछे से जूनियर डॉक्टर भी थाने आ धमके। पुलिस ने इस मामले में दोनों पक्षों पर मारपीट व हमला करने की क्रॉस FIR दर्ज की है। इसके अलावा कंपू थाने में डॉक्टरों ने ड्यूटी के दौरान मारपीट करने व काम में बाधा डालने का अलग से मामला दर्ज कराया है। शनिवार को मारपीट के विरोध में जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर चले गए हैं।

KRH में डॉक्टर से मारपीट करते अटेंडेंट।
KRH में डॉक्टर से मारपीट करते अटेंडेंट।

ऐसे शुरू हुआ विवाद
KRH में गुरुवार काे एक बच्चे को भर्ती कराया था। बच्चे को ब्लड चढ़ना था। यहां ब्लड देने के बाद अटेंडेंट कमल जब KRH में पहुंचे तो ब्लड न चढ़ाने पर नाराज हुए। उन्होंने ड्यूटी डॉक्टर विनायक से जल्दी देखने काे कहा, लेकिन डॉक्टर ने इमरजेंसी केस हाेने के कारण कुछ देर में आने की बात कही। ड्यूटी रूम में कोई नहीं था।

इस पर अटेंडेंट ने JAH अधीक्षक डॉ. आरकेएस धाकड़ काे भी फोन लगाया, लेकिन जूडा का कहना था कि उनके लिए सभी केस इमरजेंसी हैं। इसलिए वह किसी एक काे स्पेशल ट्रीटमेंट नहीं दे सकते। अधीक्षक से शिकायत करने पर वह नाराज हो गए।

कुछ देर बाद अटेंडेंट अपने साथियों के साथ पहुंचा और जूनियर डॉक्टर विनायक के साथ मारपीट कर दी। साथ ही धमकी देकर गए कि वह फूलबाग पर मिलते हैं, अगर दम है ताे आ जाना।

डॉक्टरों ने सड़क पर पीटा
जूनियर डॉक्टर इसी मामले को लेकर शुक्रवार रात फूलबाग पहुंचे। अस्पताल में मारपीट करने वालों ने ब्लड दिया था, इसलिए वहां उनका मोबाइल नंबर लिखा था। डॉक्टरों ने फूलबाग पहुंचकर उस नंबर को डायल किया।

जैसे ही अटेंडेंट ने बात करना शुरू की तो 50 से ज्यादा जूनियर डॉक्टरों ने अटेंडेंट और उसके साथ खड़े आधा दर्जन से अधिक युवकों को घेर लिया। इन युवकों के साथ मारपीट करना शुरू कर दी। सड़क पर दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। सूचना मिलते ही पड़ाव थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस दोनों पक्षों को थाने ले आई।