पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऑनलाइन कारोबार में धोखा:36 लाख एडवांस आए तो ग्वालियर के व्यापारी ने बिहार भेज दिया 1.04 करोड़ का तेल; बकाया मांगने पर मिली धमकी

ग्वालियर5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
थाना गिरवाई में ठगी का मामला दर्ज किया गया है। जांच के लिए टीम बिहार के कटिहार भेजी जा रही है। - Dainik Bhaskar
थाना गिरवाई में ठगी का मामला दर्ज किया गया है। जांच के लिए टीम बिहार के कटिहार भेजी जा रही है।
  • गिरवाई थाने में जयलक्ष्मी इंडस्ट्रीज के संचालक ने दर्ज कराया केस, दोनों व्यापारी आपस में कभी नही मिले
  • व्यापारी ने कहा कि पहले नियमित पेमेंट कर भरोसा जीत लिया, बाद में दगा दे गया

शहर के तेल कारोबारी को बिहार की फर्म ने तिली के तेल की ऑनलाइन बुकिंग कर 68 लाख रुपए की चपत लगा दी। बिहार के व्यापारी ने 1.04 करोड़ रुपए का तेल मंगाया। इसके लिए 36 लाख रुपए एडवांस भी दिए। लेकिन अब बकाया मांगने पर जान से मारने की धमकी दे रहा है। हैरानी वाली बात यह है कि ये दोनों व्यापारी एक बार भी आपस में नहीं मिले थे। घटना गिरवाई स्थित जयलक्ष्मी इंडस्ट्रीज की है। परेशान होकर व्यापारी ने गिरवाई थाने में शिकायत की है। गुरुवार शाम पुलिस ने ठगी का मामला दर्ज किया है।

गिरवाई थाना क्षेत्र में एबी रोड स्थित फर्म जयलक्ष्मी इंडस्ट्रीज में तिली तेल का कारोबार किया जाता है। फर्म के संचालक गंधर्व सिंह राणा हैं। इनसे बिहार के कटिहार स्थित फर्म मैसर्स काली ट्रेडिंग कंपनी कुछ समय से कारोबार कर रही थी। काली ट्रेडिंग फर्म अंजलि देवी पोद्दार के नाम पर हैं, लेकिन फर्म का पूरा काम अंजलि के पति चितरंजन पोद्दार व उनके बेटे राजीव और रवि करते हैं। दोनों फर्म के बीच पूरा व्यवहार और लेनदेन ऑनलाइन ही शुरू हुआ था। धीरे-धीरे विश्वास बन गया। पिता व दोनों बेटों ने पहले तो जयलक्ष्मी इंडस्ट्रीज के मालिक गंधर्व सिंह राणा के साथ कुछ डील कर विश्वास जीता। पिछले महीने इन्होंने गंधर्व सिंह से तिली के तेल के 5 टैंकर मंगाए थे।

कुछ भुगतान एडवांस दिया और 68 लाख रुपए बाद में देना तय हुआ। तेल की कुल कीमत 1 करोड़ 4 लाख रुपए थी। आखिर में पेमेंट की बारी आई, तो बिहार की फर्म के संचालकों ने भुगतान नहीं किया। जब भी भुगतान करने के लिए कहा जाता, तो वह टाल देते थे। व्यापारी ने जब दबाव बनाया, तो बिहार की फर्म ने भुगतान करने से इनकार करते हुए जान से मारने की धमकी दे डाली। संचालक को अपने साथ हुई धोखाधड़ी का एहसास हुआ। उन्होंने थाने जाकर चार लोगों के खिलाफ शिकायत की। पुलिस ने शिकायत पर बिहार की फर्म के चारों संचालकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

सब कुछ ऑनलाइन ही हुआ

मामले में गिरवाई थाना प्रभारी छत्रपाल सिंह तोमर का कहना है, व्यापारी की शिकायत पर मामला दर्ज किया गया है। ऑर्डर से लेकर भुगतान तक सभी कुछ ऑनलाइन हुआ है। दोनों फर्म के संचालक कभी मिले भी नहीं है, इसलिए मामले की जांच की जा रही है।