• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Brother Said Had Not Been Talking To Sister For 12 Days, Did Not Know That Now She Would Never Talk To Her, Nephew Had Not Even Understood Life Yet

ग्वालियर में मां-बेटे की खुदकुशी का मामला...:भाई बोला-12 दिन से बहन से बात नहीं करा रहे थे, पता नहीं था कि अब कभी उससे बात ही नहीं होगी, भांजे ने तो अभी जिंदगी को समझा भी नहीं था

ग्वालियर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
यह फोटो एक साल पहले शादी के समय की है। - Dainik Bhaskar
यह फोटो एक साल पहले शादी के समय की है।
  • तीन भाई में इकलौती बहन थी प्रीति

12 दिन पहले बहन से आखिरी बार बात हुई थी, तब उसने कहा था कि ठीक है, लेकिन उसके बाद बहन से कभी बात ही नहीं हुई। बहनोई को 10-10 कॉल किए, लेकिन एक बार भी कॉल रिसीव नहीं किया। यह नहीं सोचा था कि तीन भाइयों की इकलौती बहन से फिर कभी बात ही नहीं होगी। यह कहना था प्रीति के छोटे भाई दीपक का। वह अहमदाबाद में जॉब करता है। इकलौती बहन और भांजे के इस तरह दुनिया से चले जाने का पता चलते ही वह प्राइवेट टैक्सी कर ग्वालियर के लिए निकल पड़े हैं। रह-रहकर उसे एक ही बात याद आ रही कि उसने हमेशा के लिए अपनी बहन को खो दिया है। दीपक ने दैनिक भास्कर को बताया कि उसकी बहन उसका अभिमान थी, लेकिन यह नहीं जानते थे इस तरह वह हमें छोड़कर चली जाएगी।

3 साल का मासूम कुनाल, इसने तो अभी जिंदगी का समझा नहीं था और मौत से सामना हो गया
3 साल का मासूम कुनाल, इसने तो अभी जिंदगी का समझा नहीं था और मौत से सामना हो गया

तीन भाइयों की इकलौती बहन थी प्रीति
मुरैना निवासी दीपक प्रजापति ने बताया कि हम चार भाई-बहन हैं। प्रीति दीदी हम तीनों भाइयों से बड़ी थीं। इसलिए सब उनकी बहुत इज्जत करते थे। हम तीनों भाई अहमदाबाद में जॉब करते हैं। आखिरी बार बहन से उस समय मुलाकात हुई थी जब रक्षाबंधन से पहले उसके पति राजकुमार ने उसे पीटा था तो मैं उसे घर ले आया था।

इसके बाद हमने सोचा था कि बहन को घर पर ही रखेंगे। पर जन्माष्टमी पर राजकुमार नशे में धुत होकर पहुंचा तो उसे कसम खिलाकर जबरन साथ ले गया। इसके बाद हमें उसका चेहरा देखने को नहीं मिला। मासूम भांजे कुनाल ने तो अभी दुनिया भी नहीं देखी थी।

छोटी-छोटी बातों पर जलील करता था
दीपक ने बताया कि राजकुमार उनकी बहन को छोटी-छोटी बातों पर जलील करता था। इसमें उसकी भाभी और मां उसका ही पक्ष लेती थीं। हाल ही में वह 40 हजार रुपए किसी से उधार लेकर जुआ में हार गया था। इस पर प्रीति ने जब उसे टोका तो उसने शराब पीकर उसकी बेरहमी से पिटाई की। यह तो एक घटना है आए दिन वह नशे में बहन के साथ बुरा सलूक करता था।

रक्षाबंधन पर भांजे का बनाया था वीडियो
इस राखी पर प्रीति आखिरीबार अपने भाइयों के साथ थी। यह कोई नहीं जानता था कि प्रीति और उसके तीन साल के बेट के लिए यह आखिरी रक्षाबंधन है। उसने अपने भाइयों के मोबाइल से सेल्फी भी खींची और कुनाल का वीडियो भी बनाया। यही सेल्फी उसके जीवन की आखिरी सेल्फी भी रही है।

यह है पूरा घटनाक्रम
हजीरा माधवी नगर निवासी राजकुमार प्रजापति से 8 साल पहले मुरैना निवासी 28 वर्षीय प्रीति की शादी हुई थी। तीन साल पहले प्रीति ने कुनाल को जन्म दिया था। अभी भी 7 महीने की गर्भवती थी। पति राजकुमार की जुआ खेलने और शराब पीने की आदत से वह काफी परेशान थी। नशे में पति उसकी मारपीट करता था। मायके से भी जबरदस्ती ले आया था। तीन साल के बेटे के पोषण के लिए भी रुपए नहीं देता था। जब वह सास और जेठानी से कुछ कहती थी तो वह उसे राजकुमार से पिटवाती थीं।

यही कारण है कि सोमवार शाम को घर पर कोई नहीं था तो प्रीति ने तीन के साल के बेटे कुनाल के साथ अपने जीवन को हमेशा के लिए समाप्त कर दिया। उसने एक साड़ी को कुंदे पर लटकाया और एक छोर पर बेटे और दूसरे छोर पर खुद के लिए फंदा बनाकर फांसी लगा ली। घटना का पता चलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। घर से 5 पेज का सुसाइड नोट भी मिला है। इतना ही नहीं मृतका ने अपने हाथ पर भी लिखा है कि उसकी मौत के जिम्मेदार उसका पति राजकुमार, जेठ जीतू, जेठानी प्रेमिका और सास है। पुलिस ने शवों को निगरानी में ले लिया है। मंगलवार को पोस्टमार्टम कराया जाएगा।

खबरें और भी हैं...