• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Brought The Disabled Mother To Mathura And Left Her At The Station, RPF Took The Old Woman To The Old Age Home

बेटी-दामाद की शर्मनाक करतूत:विकलांग मां को मथुरा कहकर लाए और स्टेशन पर छोड़ गए, आरपीएफ ने वृद्धा को पहुंचाया वृद्धाश्रम

ग्वालियर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बुजुर्ग महिला को वृद्धाश्रम ले जाते आरपीएफ के जवान। - Dainik Bhaskar
बुजुर्ग महिला को वृद्धाश्रम ले जाते आरपीएफ के जवान।

जिस बेटी काे पाल पोषकर बड़ा किया, उसी ने वृद्धावस्था में मुंह मोड़ लिया। बेटी और दामाद द्वारा मुंह फेरने पर 70 वर्षीय वृद्धा का रो-रोकर बुरा हाल था। विकलांग वृद्धा को रोते हुए देख आरपीएफ के जवान रेलवे स्टेशन के पार्सल कार्यालय के बाहर बैठी 70 वर्षीय वृद्धा के पास आरपीएफ के उपनिरीक्षक रविंद्र सिंह राजावत और प्रधान आरक्षक बीएस चौहान, दीपेंद्र सिंह भदौरिया व आरक्षक राजकुमार पहुंचे।

वृद्धा से पूछा तो उसने बताया कि उसका नाम कुंती सोनी पत्नी किरण सोनी है। वह सागर की रहने वाली है। उसकी बेटी और दामाद घर से मथुरा घुमाने के लिए लेकर जाने की बात कहकर लाए थे, लेकिन सुबह-सुबह उसे यहां छोड़ गए । साथ ही 100 रुपए दे गए हैं। बेटी और दामाद से खूब मिन्नत की, लेकिन वह अपने साथ नहीं ले गए।

आरपीएफ ने वृद्धाश्रम पहुंचाया
आरपीएफ जवान विकलांग वृद्धा को लेकर आरपीएफ थाना लेकर आए। यहां महिला आरक्षक मनीषा मीना, खुशबू ने वृद्धा को खाना खिलवाया। इसके बाद थाटीपुर वृद्धाश्रम छोड़ दिया। साथ ही एक पर्ची में दामाद का मोबाइल नंबर लिखा था, जिस पर आरपीएफ ने फोन किया तो दामाद का कहना था कि वृद्धा उन्हें परेशान करती है। इस पर आरपीएफ ने कहा कि कुछ भी हो वह आपकी सासू मां है। जिसके बाद परिजन ने ग्वालियर आने की बात की।

बुजुर्ग को वृद्धाश्रम भेजने की जानकारी परिजन को दे दी है
लावारिस हालत में एक वृद्ध महिला पार्सल कार्यालय के सामने मिली थी। उन्हें वृद्धाश्रम भेज दिया गया है। साथ ही परिजन को सूचना दी गई है। वृद्धा के मुताबिक बेटी व दामाद उसे रेलवे स्टेशन में छोड़कर चले गए। -रविंद्र सिंह राजावत, एसआई, आरपीएफ

खबरें और भी हैं...