झांसी-मथुरा रेल लाइन निर्माण कार्य जारी:दिसंबर 2023 तक तीसरी लाइन बिछेगी, 160 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से दौड़ेंगी ट्रेन

ग्वालियर2 महीने पहलेलेखक: रामरूप महाजन
  • कॉपी लिंक
फोटो: भास्कर झांसी से मथुरा के बीच 273 किलोमीटर में तीसरी रेल लाइन का काम तेजी से चल रहा है, इस ट्रैक पर 197 छोटे और 16 बड़े ब्रिज बनाए जा रहे हैं। - Dainik Bhaskar
फोटो: भास्कर झांसी से मथुरा के बीच 273 किलोमीटर में तीसरी रेल लाइन का काम तेजी से चल रहा है, इस ट्रैक पर 197 छोटे और 16 बड़े ब्रिज बनाए जा रहे हैं।

तीसरी रेल लाइन के 73.5 किमी सेक्शन में ट्रेनें दौड़ने लगी हैं। तीसरी लाइन का काम दिसंबर 2023 तक पूरा करने का लक्ष्य रेलवे ने रखा है। झांसी से मथुरा के बीच 273 किलोमीटर में तीसरी रेल लाइन का काम तेजी से चल रहा है। तीसरी लाइन के ट्रैक पर 197 छोटे और 16 बड़े ब्रिज बनाए जा रहे हैं।

मथुरा-झांसी के बीच लगभग 4377 करोड़ रुपए और झांसी-बीना के मध्य 2488 करोड़ रुपये तीसरी लाइन बिछाने में खर्च होंगे। अभी ललितपुर-बिजरौठा रेल खंड 29.5 किमी व बिरला नगर-बानमोर 19 किमी रेल खंड व झांसी-बबीना 25 किमी तीसरी लाइन पर ट्रेनें दौड़ रही हैं। जबकि अगस्त के पहले सप्ताह तक आंतरी से डबरा करीब 20 किमी तीसरी लाइन में ट्रेनें दौड़ाने की तैयारी चल रही है।

उत्तर मध्य रेलवे के सीपीआरओ डॉ. शिवम वर्मा ने कहा कि तीसरी लाइन का काम दिसंबर 2023 तक पूरा हो जाएगा। अभी तीसरी लाइन के 73.5 किमी सेक्शन में ट्रेनें दौड़ना शुरू हो चुकी हैं। वहीं चौथी रेल लाइन का काम रेलवे बोर्ड से डीपीआर की मंजूरी मिलने के बाद शुरू होगा।

तीसरी रेल लाइन पर 73.5 किमी में चल रहीं ट्रेन, आंतरी-डबरा का काम पूरा

  • 4377 करोड़ रुपए में झांसी-मथुरा के बीच बिछ रही लाइन

अभी दो रेल लाइन हैं। एक ट्रैक पर अप लाइन तो दूसरी में डाउन लाइन की ट्रेनें संचालित होती हैं।

  • 2488 करोड़ रुपए में झांसी से बीना के बीच बिछेगी लाइन

झांसी मंडल में 18 साल में 60 ट्रेनें बढ़ीं
झांसी मंडल से होकर जाने वाली ट्रेनों की संख्या लगातार बढ़ रही है। 18 साल में करीब 60 ट्रेनें बढ़ी हैं। इसके साथ ही मालगाड़ियों का भी संचालन बढ़ा है। इसी के चलते ट्रेनों का संचालन प्रभावित हो रहा है। ग्वालियर से हर दिन 160 ट्रेनें गुजर रही हैं।

अभी ओवर ट्रैफिक इसलिए ट्रेनें लेट

अभी डबल लाइन होने के कारण झांसी से धौलपुर-मथुरा तक रेल ट्रैक पर ट्रैफिक लोड अधिक है। इस सेक्शन पर 122% ट्रैफिक लोड है। जबकि झांसी-बीना रेल ट्रैक पर 142% ट्रैफिक है। सबसे ज्यादा ट्रेनों का ओवर ट्रैफिक झांसी-बीना सेक्शन के बीच है।

खबरें और भी हैं...