पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Claim To Supply Up To 12 Meters Height, But In Rasulabad, Water Does Not Rise In The Tank Without The Meter

अमृत प्रोजेक्ट:दावा 12 मीटर ऊंचाई तक सप्लाई देने का, लेकिन रसूलाबाद में माेटर के बिना टंकी में नहीं चढ़ता पानी

ग्वालियर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सूखे नल, इनमें पानी की एक बूंद भी नहीं आती। - Dainik Bhaskar
सूखे नल, इनमें पानी की एक बूंद भी नहीं आती।
  • नगर निगम 43 में से 21 नई टंकियों को चालू कर चुका है फिर भी लोग परेशान

अमृत प्रोजेक्ट में दो मंजिला मकान की छत पर बिना मोटर के पानी देने का वादा सिर्फ दिखावटी साबित हो रहा है। जल उपभोक्ताओं का कहना है कि 12 मीटर तो दूर एक मीटर ऊंचाई तक पानी नहीं पहुंच रहा है। रसूलाबाद में तो पानी नहीं हवा की आवाज आती रहती है। इसी तरह न्यू सुभाष नगर में लोगों ने पुरानी लाइन वाले घरों के नलों में कनेक्शन कर लिया है।

आज भी लोगों को नया कनेक्शन लेने के बाद मोटर लगाकर दो मंजिला मकान पर पानी चढ़ाना पड़ रहा है। अमृत प्रोजेक्ट से जुड़े जिम्मेदारों का कहना है कि अभी निगम को सिस्टम नहीं सौंपा है। 10-12 मीटर की ऊंचाई तक ही घरों में पानी पहुंचेगा। शहर में हर पानी की टंकी का डीएमए (डिस्ट्रिक्ट मीटर एरिया) बनाया गया है। उसी हिसाब से पानी हर घर में 12 मीटर तक पहुंचाना है। नगर निगम 43 में से 21 पानी की नई टंकियों को शुरू कर चुका है। इसके बाद भी कई जगह पानी नहीं पहुंच रहा है।

हालत... कहीं एक मंजिल पर भी पहुंच रहा पानी और कहीं नलों से सिर्फ हवा आती है

जानिए… कहां पर क्या हैं हालात
रसूलाबाद: यहां पानी की नई लाइन डाली गई है। इसके बाद भी पानी नहीं नल में से सिर्फ हवा निकलती है। ऐसा यहां के लोगों का कहना है।
न्यू बाउंड्री सुभाष नगर: पानी दो मंजिल तक नहीं चढ़ने पर रहवासियों ने घरों में बनाई गई टंकियों में ही नलों के कनेक्शन कर लिए है।
विनय नगर सेक्टर-3: पत्रकार काॅलोनी में नई पाइप लाइन से सप्लाई चालू है। एक मंजिल तक पानी नहीं चढ़ता। मोटर लगाना पड़ती है।
न्यू ख्वाजा नगर: नई पानी की लाइन डली हुई है। कभी-कभी छह-सात फीट तक पानी आता है। अधिकांश वक्त टिल्लू से पानी पहुंचता है।
अलकापुरी: यहां पर हाल में पांच दिन पहले पानी सप्लाई शुरू की गई है। वह भी एक-दो फीट पानी आ रहा है, लोग परेशान हो रहे हैं।
अब नहीं लगेंगे पानी के मीटर
पहले प्रोजेक्ट के तहत घरों में पानी के मीटर लगाने का तय हुआ था। शहर के विनयनगर क्षेत्र में कुछ जगह पानी के मीटर लगाए भी गए। अब घर-घर मीटर लगाने का प्रोजेक्ट फिलहाल स्थगित कर दिया गया है।
नई लाइन में कनेक्शन किए
अमृत प्रोजेक्ट में नई लाइन में बोरिंग के कनेक्शन करने के कई मामले भी सामने आए हैं। वार्ड-50 में ्थित श्रीराम धर्मशाला के पास नई पानी की लाइन डाली गई है। यहां पर नजदीक की बोरिंग से नई पानी की लाइन में कनेक्शन कर दिया गया। यह स्थिति शहर में कई जगह बनी है। जबकि नई लाइन में तिघरा जलाशय का पानी सप्लाई होना था लेकिन ऐसा नहीं हो रहा है।

10-12 मीटर ऊंचाई तक देंगे पानी, अभी प्रयोग है
^अभी पानी प्रोजेक्ट पर काम करने वाली कंपनी ने काम नगर निगम को हैंडओवर नहीं किया है। अनुबंध के हिसाब से 10-12 मीटर ऊंचाई तक घरेलू उपभोक्ताओं के घरों पर पानी पहुंचेगा। अभी तो प्रयोग के तौर पर पानी सप्लाई हो रहा है।
-दिनेश परमार, आरई, इजिप्स इंडिया
जनता को गुमराह कर रहे हैं

^अमृत प्रोजेक्ट के कामों पर नगर निगम परिषद में भी उंगली उठी है। पानी टंकियों से नई लाइन में पानी आ रहा है, तो 12 मीटर तक क्यों नहीं पहुंच रहा। जब काम हैंडओवर हो जाएगा। तब किसे पकडेंगे। अभी से जिम्मेदार अधिकारियों को एक एक कनेक्शन चेक कराएं।
-कृष्ण राव दीक्षित, पूर्व नेता प्रतिपक्ष नगर निगम परिषद

खबरें और भी हैं...