• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Colleges Running Traditional Courses Will Face Problems, Affiliation Process Is Not Yet Complete, Admissions Will Start From 17

दिक्कत:परंपरागत कोर्स चलाने वाले कॉलेजों को आएगी दिक्कत, संबद्धता प्रक्रिया अब तक पूरी नहीं हुई, प्रवेश 17 से शुरू होंगे

ग्वालियर13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बीएड कॉलेजों की संबद्धता प्रक्रिया पूरी कर ली है, लेकिन इसकी सूची उच्च शिक्षा विभाग के पोर्टल पर अपडेट नहीं की गई

उच्च शिक्षा विभाग 17 मई से प्रवेश प्रक्रिया शुरू कर रहा है, लेकिन जीवाजी यूनिवर्सिटी ने अब तक परंपरागत कोर्स (बीए, बीएससी, बीकॉम, एमए, एमएससी एमकॉम) चलाने वाले कॉलेजों को अब तक संबद्धता देने की प्रक्रिया ही शुरू नहीं की है। ऐसे में अंचल के परंपरागत कोर्स चलाने वाले कॉलेजों की सीट संख्या को लेकर गफलत होगी, प्रतिवर्ष होता यह है कि कॉलेजों को प्रवेश प्रक्रिया शुरू होने से पहले संबद्धता दे दी जाती थी और संबद्धता में दर्शाई सीट संख्या को ही ई-प्रवेश पोर्टल पर प्रदर्शित किया जाता था, लेकिन इस बार परंपरागत कोर्स चलाने वाले कोर्सों की संबद्धता प्रक्रिया पूरी न होने की वजह से पोर्टल पर कौन-सी सीट संख्या प्रदर्शित होगी इसे लेकर जेयू के अफसर कुछ भी नहीं कह रहे हैं।

वहीं बीएड कॉलेजों की संबद्धता प्रक्रिया पूरी कर ली है, लेकिन इसकी सूची उच्च शिक्षा विभाग के पोर्टल पर अपडेट नहीं की गई है। उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण की वजह से पिछले दो साल से कॉलेजों का निरीक्षण नहीं हुआ था, इस बार भी निरीक्षण काे लेकर गफलत रही। हालांकि इस बीच 18 बीएड और 2 एमबीए कॉलेजों का निरीक्षण कराया और इसके साथ ही अंचल के सभी बीएड और एमबीए कॉलेजों को कार्यपरिषद ने अस्थायी संबद्धता भी दे दी थी, लेकिन परंपरागत कॉलेजों का निरीक्षण अब तक शुरू नहीं कराया गया है, इनमें शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया भी होना है।

खबरें और भी हैं...