• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Dacoits Created Panic By Firing In Suraila Village, Ran Into The Forest While Firing Bullets As Soon As They Faced The Police, Said Will Come Again

भंवरपुरा में डकैतों का मूवमेंट:डकैतों ने सुरैला गांव में फायरिंग कर मचाई दहशत, पुलिस से सामना होते ही गोलियां चलाते हुए जंगल में भाग गए, बोले- फिर आएंगे

ग्वालियर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गांव में सर्चिंग करती पुलिस, द� - Dainik Bhaskar
गांव में सर्चिंग करती पुलिस, द�
  • - घाटीगांव के भंवरपुरा में ही गड़रिया गिरोह ने दिया था 13 लोगों की हत्या को अंजाम

ग्वालियर के भंवरपुरा में मुरैना के डकैतों का फिर से मूवमेंट मिला है। यहां दो दिन पहले दिन दहाड़े गांव के एक मकान पर पहुंचकर चार से पांच युवकों ने उत्पात मचाया। पहले गाली गलौज की फिर फायरिंग कर दी। इसी समय पुलिस की टीम वहां पहुंच गई। पुलिस से आमना सामना होते ही डकैत फायरिंग हुए जंगल मंे गायब हो गए। भागते समय गिरोह के सदस्य 8 दिन बाद फिर आने की धमकी देकर गए हैं। ग्वालियर के जंगल मंे एक बार फिर डकैतांे की दहशत से पुलिस सकते में हैं। पुलिस ने जंगल में सर्चिंग बढ़ा दी है। वहीं इस घटना के बाद से भंवरपुरा मंे दशहत का माहौल है।

गांव के लिए दिन में भी ज्ंगल में मवेशी लेकर जाने में डर रहे
गांव के लिए दिन में भी ज्ंगल में मवेशी लेकर जाने में डर रहे

भवंरपुरा के सुरैला गांव के राजवीर गुर्जर ने पुलिस को बताया कि शाम 5 बजे गांव मंे रहने वाले बलवीर गुर्जर को डकैत जोगेन्द्र गुर्जर का गिरोह मिला था। सरगना जोगेन्द्र ने बलवीर से कहा गांव वालों को पहाड़ी के मंदिर पर ले जाओ। बलवीर ने गांव आकर डकैतों का फरमान सुनाया, लेकिन किसी की डकैतों के पास जाने की हिम्मत नहीं हुई। कुछ देर डकैतों ने इंतजार किया, फिर गिरोह गांव के सरकारी स्कूल की इमारत पर आ गया। वहां खड़े होकर जोगेंद्र ने गांव वालों को बुलाया। लोग डर के कारण घरों में दुबके रह गए। कोई नहीं आया तो डकैतों ने गोलियां चलाईं। गिरोह में करीब 9-10 बदमाश शामिल थे। गांव वालों ने इस दौरान पुलिस को फोन कर दिया। पुलिस थोड़ी देर में वह आ गई और डकैतों और पुलिस आमना-सामना हो गया। दोनों तरफ से गोलियां चली। डकैत स्कूल की इमारत की अोट लेकर भाग गए। वहीं जाते जाते गांव वालों को धमकी दे गए कि वह बदला लेने 8 दिन बाद फिर आएंगे। पुलिस को आशंका है कि डकैत की गांव से कोई दुश्मनी नहीं है, लेकिन कुछ दिन पहले श्योपुर निवासी शादीशुदा महिला गांव के युवक के साथ भाग आई है। महिला के तीन बच्चे हैं। उसके पति का निधन हो चुका है। महिला का ससुराल पक्ष उसे वापस पाना चाहता है। इसलिए गांव में पंचायत भी हुई थी, लेकिन महिला ने प्रेमी से कोर्ट मैरिज कर ली है। इसलिए हो सकता गिरोह उसी महिला को वापस ससुराल भेजना चाहता था इसलिए गांववालों को धमकाने आया होगा। फिलहाल पुलिस ने डकैतों के खिलाफ मामला दर्ज कर जंगल में उनकी तलाश शुरू कर दी है।
घटना से गांव में दहशत
-भंवरपुरा में डकैतों की इस हरकत के बाद सुरैला गांव में दहशत है। रात तो दूर की बात है दिन में भी लोग अकेले जंगल की तरफ नहीं जा रहे हैं। मवेशी चराने जाते समय भी समूहों में जा रहे हैं। पुलिस भी लगातार सर्चिंग कर रही है।
पुलिस अफसरों का कहना
- इस माम ले में एसएसपी ग्वालियर अमित सांघी ने बताया कि सुरैला गांव में डकैत जोगेन्द्र गुर्जर के गिरोह ने दिन दहाड़े आकर लोगों को धमकाया है। घटना के पीछे गांव के युवक की शादीशुदा महिला से लव मैरिज करना वजह बताई जा रही है। इसलिए गिरोह गांव में आया था। जब गांव वालों ने पुलिस को सूचना दी तो पुलिस का डकैतों से आमना सामना हो गया और गांव वालों को डकैत गिरोह 8 दिन में वापस आने की धमकी देते हुए गोली चला कर भाग निकला।