• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Dog Was Raging 8 year old Angel, Younger Sister Saved Her Life By Hiding Behind The Cooler, When She Protested, The Neighbor Threatened Next Time Save The Younger Daughter

मामूली बात पर पड़ोसी ने बच्ची पर छोड़ा डॉग:ग्वालियर में 8 साल की बच्ची को नोंच रहा था डॉग, छोटी बहन घबराकर एक घंटे तक कूलर के पीछे छुपी रही

ग्वालियर2 महीने पहले
परी के दोनों हाथ, पैर और थाई पर पड़ोसी के डॉग ने काटा है।

ग्वालियर में मामूली बात पर बहस के बाद पड़ोसी ने 8 साल की बच्ची पर पालतू डॉग छोड़ दिया। छत पर खेल रही बच्ची को डॉग ने हाथ और पैर पर कई जगह काट लिया। इसी दौरान उसकी 5 साल की छोटी बहन ने कूलर के पीछे छुपकर जान बचाई। घबराहट में वह एक घंटे तक वहीं बैठी रही।

डॉग के काटने के दौरान शोर मचाने की आवाज सुनकर बच्ची के परिजन मौके पर पहुंचे। इसके बाद उन्होंने जब पड़ोसी को फटकार लगाई तो आरोपी उन्हें धमकाने लगा। घायल बच्ची को पहले परिजन अस्पताल लेकर गए। इसके बाद बहोड़ापुर थाना में मामला दर्ज करवाया। घटना सोमवार की है, लेकिन मामले में FIR बुधवार को दर्ज हुई।

बहोड़ापुर के 24 बीघा कॉलोनी स्थित सिल्वर अपार्टमेंट में चौथी मंजिल पर फ्लैट नंबर 401 में दीपक कुमार जैन रहते हैं। उनके नीचे वाले फ्लोर पर फ्लैट नंबर 303 में अनिल उर्फ अन्नू शर्मा भी रहते हैं। पिछले दिनों दीपक कुमार ने अनिल शर्मा से कहा था कि वे अपने डॉग को लेकर छत पर न आया करें। बच्चे खेलते रहते हैं। इस बात को लेकर दोनों में नोकझोंक भी हुई थी। सोमवार को दीपक की 8 और 5 साल की बेटी छत पर खेल रही थी। इस दौरान अनिल शर्मा अपने डॉग को लेकर छत पर पहुंचा।

दीपक जैन ने पुलिस को बताया कि आरोपी अनिल ने अपने डॉग को दीपक की बड़ी बेटी परी के ऊपर छोड़ दिया। डॉग ने मासूम को काटकर लहूलुहान कर डाला। जब दीपक ने घटना का विरोध किया तो अनिल ने जान से मारने की धमकी दी। दीपक का आरोप है, अनिल ने कहा कि इस बार बड़ी बेटी को कटवाया है, अगली बार छोटी बेटी पर छोड़ दूंगा।

छोटी बेटी को ढूंढ़ते हुए पहुंचे, तो वह छुपी मिली
दीपक जैन ने बताया कि बड़ी बेटी को डॉग से बचाकर रूम में पहुंचे, फिर याद आया कि ऊपर परी की बहन भी खेल रही थी। उन्हें लगा ऐसा न हो कि वह घबराकर कहीं नीचे कूद गई हो। इस पर वह छत पर देखने पहुंचे, तो बच्ची कूलर के पीछे छुपकर घबराई हुई बैठी मिली। उन्होंने उसे देखकर राहत की सांस ली। इसके बाद उसे घर लेकर आए।

पांच साल पहले भी हुआ था झगड़ा
दीपक जैन का कहना है कि अनिल शर्मा से कभी भी कुछ कहो, तो वह झगड़ा करने लगता है। 5 साल पहले उसने मुझसे झगड़ा किया था। उस वक्त भी डॉग के बारे में कहने पर मुझसे भिड़ गया था। तभी से उससे बातचीत बंद है। कुछ दिनों पहले बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए डॉग को छत पर लाने से मना किया था। तभी भी नोकझोंक हुई थी।

खबरें और भी हैं...