5.74 करोड़ रुपए में प्राथमिक से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनेगा:बहोड़ापुर के नए अस्पताल की ड्राॅइंग तैयार 30 बेड के साथ 24 घंटे प्रसव सुविधा मिलेगी

ग्वालियर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बहोड़ापुर में जल्द ही बड़ा अस्पताल शुरू होगा। इसकी ड्रॉइंग तैयार हो गई है। - Dainik Bhaskar
बहोड़ापुर में जल्द ही बड़ा अस्पताल शुरू होगा। इसकी ड्रॉइंग तैयार हो गई है।

बहोड़ापुर, मोतीझील, पुरानी छावनी और आसपास के लोगों को इलाज के लिए अब जयारोग्य या सिविल अस्पताल हजीरा नहीं जाना पड़ेगा। उनके लिए बहोड़ापुर में जल्द ही बड़ा अस्पताल शुरू होगा। इसकी ड्रॉइंग तैयार हो गई है। शहर में यह छठवां सरकारी अस्पताल होगा। इससे पहले जेएएच, हजीरा, मुरार, लक्ष्मीगंज और डीडी नगर में अस्पताल हैं। बहोड़ापुर में फिलहाल 6 बिस्तर का शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र है जहां मरीजों को ओपीडी समय पर प्राथमिक इलाज ही मिल पाता है। उन्हें उच्च स्तरीय इलाज देने के लिए किशनपुर बहोड़ापुर में 30 बेड का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनाया जा रहा है। इस पर 573.83 लाख रुपए खर्च होंगे।

स्वास्थ्य विभाग के अफसरों का दावा है कि एक साल के अंदर यह अस्पताल तैयार हो जाएगा। सीएमएचओ डॉ. मनीष शर्मा ने बताया कि किशनपुर में बन रहे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में मरीज भर्ती होकर इलाज तो ले ही सकेंगे। साथ ही यहां गर्भवती महिलाओं के प्रसव की सुविधा भी रहेगी। अस्पताल के बनने के बाद डॉक्टरों और स्टाफ की नियुक्ति की जाएगी। इस अस्पताल के बन जाने से जयारोग्य चिकित्सालय और सिविल अस्पताल हजीरा का लोड कम होगा। यह अस्पताल एक साल के अंदर बनकर तैयार हो जाएगा। अस्पताल की निर्माण एजेंसी स्वास्थ्य विभाग ही है।

लोगों ने कहा... इलाज के लिए जेएएच या हजीरा जाना पड़ता है
बहोड़ापुर, मोतीझील और पुरानी छावनी व उसके आसपास के लोग लंबे समय से अस्पताल बनाने की मांग कर रहे थे। उनका कहना था कि उन्हें इलाज के लिए बार-बार जयारोग्य चिकित्सालय या सिविल अस्पतल हजीरा जाना पड़ता है। अगर प्रसव कराना हो तो कमलाराजा चिकित्सालय या बिरला नगर प्रसूतिगृह जाना पड़ता है। क्षेत्र के लोगों की मांग को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने यहां 30 बेड का शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनाने का निर्णय लिया।

खबरें और भी हैं...