पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Drugs Being Sold From Gumti To Alleys, Ganja And Brown Sugar Puddings Are Being Freely Available For 50 To 1 Thousand Rupees

नसों में जहर...:गुमटी से गली-मोहल्लों तक बिक रहा नशा, 50 से लेकर 1 हजार रुपए मेें खुलेआम मिल रहीं गांजा और ब्राउन शुगर की पुड़ियां

ग्वालियर10 दिन पहलेलेखक: अमित मिश्रा
  • कॉपी लिंक
शहर की संकरी गलियों में नशा बिक रहा है। 50 रुपए से लेकर 1 हजार रुपए तक की छोटी-छोटी नशे की पुड़ियां बेची जा रही हैं। - Dainik Bhaskar
शहर की संकरी गलियों में नशा बिक रहा है। 50 रुपए से लेकर 1 हजार रुपए तक की छोटी-छोटी नशे की पुड़ियां बेची जा रही हैं।

शहर की संकरी गलियों में नशा बिक रहा है। 50 रुपए से लेकर 1 हजार रुपए तक की छोटी-छोटी नशे की पुड़ियां बेची जा रही हैं। दैनिक भास्कर टीम ने स्टिंग ऑपरेशन किया, जिसमें खुलासा हुआ कि किस तरह शहर में नशे का काला कारोबार फल फूल रहा है। शहरभर में इस काले कारोबार के एजेंट स्लीपर सेल की तरह फैले हुए हैं, जो नशे के बड़े तस्करों के लिए काम करते हैं।

यह खुद भी नशे की गिरफ्त में हैं, इसलिए नशे के बड़े तस्करों के लिए काम करते हैं, इन्हें भी बदले में नशा ही मिलता है। कुछ एजेंट पैसे के लिए भी यह काम कर रहे हैं। दैनिक भास्कर टीम ने इन्हीं एजेंटों से संपर्क कर नशे का सामान खरीदवाया और इसकी कड़ियों को जाना। गांजा और ब्राउन शुगर की पुड़िया टीम ने एजेंट से लीं, शहर के बीचोंबीच बड़ी आसानी से यह नशे का सामान उपलब्ध हो गया। इससे स्थानीय पुलिस को भी अवगत कराया गया।

गांजे का सबसे ज्यादा कारोबार इस काले कारोबार से जुड़े लोगों के मुताबिक शहर में गांजा सबसे ज्यादा बिक रहा है। 50 रुपए से लेकर 120 रुपए तक में गांजे की पुड़िया उपलब्ध है। इसके बाद ब्राउन शुगर का नंबर आता है। ब्राउन शुगर की एक पुड़िया 300 से 500 रुपए में मिल रही है।

पति की मौत के बाद पत्नी और बेटा कर रहे काला कारोबार

स्टिंग-1 ..स्थान: कटी घाटी...समय: दोपहर 12:55 बजे
स्टिंग-1 ..स्थान: कटी घाटी...समय: दोपहर 12:55 बजे

नई सड़क पर नशेड़ियों का एक ठिकाना है, यहां पान की दुकान के पास ही नशेड़ियों का जमावड़ा रहता है। भास्कर टीम यहां पहुंची। इसी दौरान गांजा का नशा कर एक युवक निकला। इसे रोककर रिपोर्टर ने बात की। नशा करने वाले युवक ने सीधे कहा, गांजा यहां नहीं मिलेगा। उससे जगह का नाम पूछा तो बोला- मैं खुद लेकर चलता हूं, मुझे एक बार के शॉट के लिए माल देना होगा। रिपोर्टर उसे साथ लेकर गया तो वह युवक कटीघाटी इलाके में लेकर पहुंचा। यहां रिपोर्टर को गली के बाहर रोक दिया। बोला- अंदर छोटू (परिवर्तित नाम) और उसका परिवार गांजा बेचता है, कुछ दिन पहले छोटू की मौत हो गई अब उसकी पत्नी और बेटे यह काम करने लगे हैं। उसने 80 रुपए की गांजे की पुड़िया लाकर दी।

युवकों के गिरोह एजेंट बन बेचते हैं यहां गांजा

स्टिंग-2...स्थान: कोटेश्वर कॉलोनी...समय: दोपहर 3:36 बजे
स्टिंग-2...स्थान: कोटेश्वर कॉलोनी...समय: दोपहर 3:36 बजे

बहोड़ापुर के शंकरपुर में भास्कर टीम पहुंची। बरा गांव में एक दुकान मिली। टीम ने गांजे के बारे में पूछा तो महिला दुकानदार ने आगे की ओर इशारा कर कहा- थोड़ी दूर कई लोग बेचते हैं। यहां पहुंचने के बाद चार युवक दिखे। इनमें से एक से जब बात की तो 50 रुपए कमीशन पर गांजा दिलाने के लिए तैयार हो गया। वह पहले ट्रांसपोर्ट नगर लेकर पहुंचा। फिर यहां से उसने अपने एक साथी को लिया और बोला- कोटेश्वर कॉलोनी में माल मिलेगा। टीम इन दोनों को लेकर कोटेश्वर कॉलोनी पहुंची। टीम को काली माता मंदिर के पास यह कहकर रोक दिया कि अंजान को कोई माल नहीं देगा। इन्होंने 50 रुपए की पुड़िया मुन्ना (परिवर्तित नाम) से लाकर दी।

नशे पर महंगाई की मार, स्मैक की जगह अब ब्राउन शुगर

स्टिंग-3...स्थान: तानसेन रोड....समय: शाम 5:04 बजे
स्टिंग-3...स्थान: तानसेन रोड....समय: शाम 5:04 बजे

तानसेन रोड से लेकर हजीरा चौराहे के बीच संकरी गलियों में कई जगह स्मैक, ब्राउन शुगर और गांजे के तस्कर हैं। तानसेन रोड पर एक एजेंट मिला। इससे भास्कर टीम ने बात की। वह बोला- 300 रुपए में ब्राउन शुगर की एक पुड़िया दिलाएगा। जब स्मैक के लिए कहा तो बोला- एक दिन पहले बताना होगा और एक पुड़िया 1 हजार रुपए की मिलेगी। उसने बताया कि पूरे इलाके में स्मैक की जगह ब्राउन शुगर ही बिक रही है, क्योंकि यह सस्ती है। वह कार से साथ लेकर स्टेट बैंक चौराहे के पास पहुंचा। यहां एक संकरी गली में ले गया। अंदर एक जगह गाड़ी रुकवाई, रिपोर्टर से रुपए लिए और महज 10 मिनट में वापस आ गया। फिर साथ में गाड़ी से लोको के पास नैरोगेज ट्रैक की ओर सुनसान जगह ले गया। यहां पुड़िया दी और कमीशन केे 200 रुपए लिए।

खबरें और भी हैं...