पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

खुलासा:चेकिंग में पकड़ा गया था डंपर, पड़ताल में खुला फर्जीवाड़ा इटावा की गाड़ी के पार्ट्स लगाकर लिया 21 लाख का क्लेम

ग्वालियर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • तीन दिन पहले पकड़ा गया डंपर ग्वालियर की संधू ट्रांसलॉजिस्टिक प्रायवेट लिमिटेड के नाम पर रजिस्टर्ड है

तीन दिन पहले बहोड़ापुर पर चेकिंग में एक डंपर पकड़ा गया। डंपर ग्वालियर की संधू ट्रांसलॉजिस्टिक प्रायवेट लिमिटेड के नाम पर रजिस्टर्ड है, जब इस गाड़ी के पार्ट्स की पड़ताल की गई तो पता लगा कि इसमें इटावा की गाड़ी के पार्ट्स लगे हैं। इतना ही नहीं डंपर में पुरानी गाड़ी के सस्ते पार्ट्स के बिल लगाकर बीमा कंपनी से 21 लाख रुपए का क्लेम भी ले लिया गया। जो गाड़ी पकड़ी गई है,वह बीएस-4 मॉडल है और जिस गाड़ी के पार्ट्स लगाए गए हैं, वह पुराने फ्यूल मॉडल की है। इस पूरे फर्जीवाड़े से गाड़ी मालिक से लेकर सर्विस सेंटर संचालक, बीमा कंपनी के सर्वेयर और पार्ट्स बेचने वाला शक के घेरे में हैं। इस पूरे फर्जीवाड़े को पुलिस दबाने की कोशिश कर रही है, बहोड़ापुर पुलिस ने इसमें यातायात अवरुद्ध करने की धाराओं में मामला दर्ज किया है। जबकि धोखाधड़ी की धाराओं में मामला दर्ज होना चाहिए था। 
दरअसल 12 जुलाई को बहोड़ापुर इलाके में चल रही चेकिंग के दौरान डंपर एमपी07 एचबी 5562 को रोका। गाड़ी के जब कागज चेक कर इंजन नंबर से मिलान किया तो दोनों अलग-अलग थे। गाड़ी को बहोड़ापुर थाने ले जाया गया। इसकी जब पड़ताल की तो पता लगा कि गाड़ी में इंजन, गीयर बॉक्स सहित अन्य पार्ट्स यूपी 75 एटी 3151 गाड़ी के लगे थे। डंपर यूपी 75 एटी 3151 इटावा आरटीओ से अभिमन्यु सिंह चौहान के नाम पर रजिस्टर्ड है। यह गाड़ी श्रीराम ट्रांसपोर्ट फायनेंस के ग्वालियर ऑफिस से फायनेंस थी। इसके बाद पुलिस ने गाड़ी के मालिक को बुलाया। तब उसने बताया कि पिछले साल उसकी गाड़ी एमपी07 एचबी 5562 जल गई थी। इसके पार्ट्स महिंद्रा कंपनी के निरावली स्थित सर्विस सेंटर के रंजीत तोमर के यहां बदलवाए थे। इसके एवज में उसे पार्ट्स के बिल भी दिए गए थे। पुलिस ने जब रंजीत से संपर्क किया ताे उसने पार्ट्स की खरीदारी बहोड़ापुर के ट्रांसपोर्ट नगर में शिवम डिस्पोजल से गैरेज चलाने वाले राजू कबाड़ी से की। जब पुलिस ने उससे संपर्क किया तो वह पार्ट्स की खरीदारी से संबंधित कोई दस्तावेज व ट्रेड लायसेंस नहीं दिखा सका। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक गाड़ी जलने के बाद नए पार्ट्स के बिल के आधार पर रॉयल सुंदरम कंपनी से 21 लाख रुपए का क्लेम ले लिया गया। 
सीएसपी ग्वालियर नागेंद्र सिंह सिकरवार और बहोड़ापुर थाना प्रभारी दिनेश राजपूत ने इस फर्जीवाड़े की पुष्टि की है। लेकिन इसके बाद भी बहोड़ापुर थाना पुलिस ने धारा 283 के तहत यातायात अवरुद्ध करने का मामला ट्रक एमपी07 एचबी 5562 के चालक पर दर्ज किया है। इस मामले में बहोड़ापुर थाना प्रभारी दिनेश राजपूत का तर्क है कि संबंधित लोगों से दस्तावेज मंगाए हैं। अभी जांच चल रही है। 
इस मामले में एसपी नवनीत भसीन का कहना है कि जो गाड़ी 12 जुलाई को जब्त की गई थी, उसमें अगर दूसरी गाड़ी के पार्ट्स मिले हैं तो यह बड़ा फर्जीवाड़ा है। इस मामले में अभी तक आरोपियों पर एफआईआर क्यों नहीं की गई, इस बारे में अफसरों से पूछताछ की जाएगी। 

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

    और पढ़ें