पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Esma's Proposal Not Even Reached Two Km Away In 36 Hours, Ecogreen Did Not Pick Up Waste, Lack Of Coordination Between Municipal Corporation And Collectorate

जिम्मेदारी से किनारा:36 घंटे में दो किमी दूर भी नहीं पहुंचा एस्मा का प्रस्ताव, ईकोग्रीन ने कचरा नहीं उठाया,  नगर निगम और कलेक्टोरेट के बीच तालमेल का अभाव

ग्वालियर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

एक माह से मनमानी पर उतारू ईकोग्रीन कंपनी के खिलाफ कार्रवाई के लिए न नगर निगम गंभीर है और न ही जिला प्रशासन। शहर में एक सप्ताह से कचरा नहीं उठा है। नगर निगम कमिश्नर ने मंगलवार को कहा था कि वे कंपनी पर एस्मा लगाने के लिए कलेक्टर को प्रस्ताव भेज रहे हैं।

लेकिन बुधवार शाम तक कलेक्टर को ऐसा कोई प्रस्ताव नहीं मिला। जबकि कलेक्टर कार्यालय और नगर निगम कार्यालय के बीच की दूरी सिर्फ दो किलोतीटर है। पिछले छह दिनों से शहर के 53 वार्डों में कचरे का कलेक्शन नहीं होने से लोग गंदगी के मारे परेशान हैं। कंपनी की गाड़ियां बुधवार को भी घरों से कचरा लेने नहीं निकलीं। घरों में कचरे से भरे डस्टबिन बदबू मार रहे हैं। इन क्षेत्रों में गाड़ियां कब पहुंचेंगी? इसका जवाब न तो कंपनी दे रही है और न ही निगम के अफसर। निगम अब कंपनी को बिना टर्मिनेट किए ही कचरा गाड़ी (टिपर) और कचरा सेंटर लेने के लिए प्रशासक आशीष सक्सेना के पास प्रस्ताव भेजने की तैयारी में है।

ईकोग्रीन की नई कहानी- वेंडर चाबी लेकर लापता
निगम के अफसर ईकोग्रीन पर लगातार मेहरबान हैं। पहले एक हजार लीटर डीजल देना शुरू किया। इसके बाद बिल का भुगतान भी कर दिया गया। कर्मचारियों को वेतन नहीं मिला, तो वे हड़ताल पर चले गए। वे अभी काम पर भी नहीं लौटे तो लैंडफिल साइट पर काम करने वाले सिक्युरिटी वेंडर्स पर सारी जिम्मेदारी डाली जा रही है कि वह चाबियां लेकर चला गया। इस वजह से कर्मचारी काम नहीं कर रहे हैं। ऐसा बताया जा रहा कि ईको ग्रीन कंपनी में चार वेंडर काम करते हैं। इन सभी को मिलाकर 98 लाख का भुगतान चायना की कंपनी को करना है, जो अभी तक नहीं हो पाया है। अब तो कचरा सेंटरों पर तैनात सुरक्षा गार्ड भी हड़ताल पर जाने को तैयार हैं। क्योंकि उनको भी वेतन नहीं मिला है।

कलेक्टर कह रहे हैं प्रस्ताव नहीं मिला, निगम कमिश्नर बोले- भेज दिया

अभी वहां से कोई आदेश नहीं हुए
एस्मा लगाने का प्रस्ताव कलेक्टर को पहुंचाया है। वहां से अभी कोई आदेश नहीं हुए हैं। हम वाट्सएप पर भी प्रस्ताव की कॉपी भेज रहे हैं।
-संदीप माकिन, आयुक्त नगर निगम

प्रस्ताव मिलेगा, तो एस्मा लगेगा
निगम आयुक्त के यहां से ईकोग्रीन कंपनी के खिलाफ एस्मा लगाने का प्रस्ताव नहीं आया है। प्रस्ताव आते ही परीक्षण कर तत्काल एस्मा लगा दिया जाएगा। -कौशलेंद्र विक्रम सिंह, कलेक्टर

सिक्युरिटी वेंडर चाबी ले गए
चीन की कंपनी से चार वेंडर का भुगतान नहीं आया है। इस कारण कचरा सेंटरों की चाबी सिक्युरिटी वेंडर्स ले गए हैं। -आकर्षदत्त शर्मा, प्रोजेक्ट हैड, ईकोग्रीन कंपनी

खबरें और भी हैं...