पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

​​​​​​​फूड सेफ्टी:खाद्य पदार्थों में मिलावट के बाद भी अमला सुस्त सिर्फ 10 रुपए देकर आप खुद करा सकते हैं जांच

ग्वालियर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आ्धे दुकानदार न तो मिठाई बनाने की डेट लिख रहे हैं और न उसके उपयोग की

बाजार में त्योहारी सीजन की राैनक दिखाई देनी लगी है। शहर में कुछ लोग सिर्फ ब्रांडेड कंपनियोंं के नाम पर सस्ते में नकली माल ही नहीं बेच रहे हैं बल्कि खाद्य पदार्थों में मिलावट भी फिर बड़े पैमाने पर की जाने लगी है। ऐसे में खाद्य पदार्थों की जांच आप खुद भी करा सकते हैं। इसके लिए हर महीने दो सप्ताह तक शहर में चलित लैब अलग-अलग बाजारों में मौजूद रहती है।

पिछले 10 महीने में जिले में 1 हजार 20 नमूने खाद्य पदार्थों के लिए गए। इनमें से 30 फीसदी अर्थात करीब 340 में कुछ न कुछ गड़बड़ मिली है। इनमें से 9 प्रकरण ऐसे हैं जिनकी नमूना रिपोर्ट अनसेफ निकली है। ये दूध व मसालों से जुड़े हैं। चलित लैब में सर्वाधिक दो हजार नमूने बाजारोंं में पहुंचकर लिए गए। इनमें भी बड़ी संख्या में नमूनों की रिपोर्ट गलत मिली है।

इस तरह से करा सकते हैं आप जांच
सरकार ने चलित लैब से जांच तेज की है। ग्वालियर में यह लैब अलग-अलग स्थानों पर हर महीने 1 से 10 तारीख तक रहती है। इसमें दूध व दूध से बने उत्पादन की जांच कोई भी व्यक्ति सिर्फ 10 रुपए देकर करा सकता है। जांच रिपोर्ट तत्काल दी जाती है। लैब के प्रभारी राजेश गुप्ता से 94072-07576 पर संपर्क कर सकते हैं।

नहीं लिख रहे एक्सपायरी डेट: एफएसएसएआई ने विक्रेताओं को मिठाई के निर्माण व उपयोग की डेट काउंटर पर लिखने के निर्देश दिए हैं, लेकिन 50% दुकानदार इसका पालन नहीं कर रहे हैं।

चलित लैब में मौके पर कराई जा सकती है जांच
चलित लैब में सिर्फ 10 रुपए की फीस देकर कोई भी व्यक्ति दूध व दूध से बने उत्पाद की मौके पर ही जांच करवा सकता है। मंगलवार को एक नमक पैकिंग संस्थान सील किया गया और कुछ नमूने भी लिए गए हैं। -संजीव खेमरिया, अभिहित अधिकारी व एसडीएम

खबरें और भी हैं...