• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Excitement After Corona; This Time There Will Be Krishna Leela With Holika Dahan, Holi Of Flowers Will Also Be Played.

त्योहार की तैयारियां:कोरोना के बाद उत्साह; इस बार होलिका दहन के साथ कृष्ण लीला होगी, फूलों की होली भी खेली जाएगी

ग्वालियर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शहर में होली के लिए बाजार में रंग और पिचकारी की दुकानें सज गईं है। चि­त्र नई सड़क पर स्थित दुकान का है। - Dainik Bhaskar
शहर में होली के लिए बाजार में रंग और पिचकारी की दुकानें सज गईं है। चि­त्र नई सड़क पर स्थित दुकान का है।
  • सराफा बाजार में 10 फीट की होली बनेगी, गोलपाडा में नारियल की होली जलेगी

शहर में होली की तैयारियां दिखाई देने लगी हैं, होलिका दहन के लिए लकड़ी-कंडे इकट्‌ठे किए जा रहे हैं। शहर की प्रमुख होली सराफा बाजार में जलाई जाती है, यहां पर होलिका दहन से पहले कृष्ण लीला तथा फूलों की होली का आयोजन भी किया जाएगा। इसके अलावा उपनगर ग्वालियर में नारियल की होली का दहन किया जाएगा।

सराफा बाजार में होली उत्सव को लेकर होली उत्सव समिति के कार्यकारिणी सदस्य मनीष अग्रवाल का कहना है कि इस बार 10 फीट की होलिका का दहन किया जाएगा। इसमें लकड़ी नहीं जलाई जाएंगी, सिर्फ कंडों का उपयोग होगा। होलिका दहन का कार्यक्रम शाम 7 बजे से रात 10.30 बजे तक चलेगा। 7 से 10 बजे तक कृष्ण लीला का मंचन किया जाएगा, इसके साथ ही फूलों की होली खेली जाएगी। 10.30 बजे हाेलिका दहन किया जाएगा।

वहीं अचलेश्वर मंदिर पर अचलेश्वर भक्त मंडल द्वारा होलिका दहन किया जाएगा। मंडल के रवि चौबे का कहना है कि प्रतिवर्ष की भांति होलिका दहन किया जाएगा इसके बाद श्रद्धालु रंग गुलाल से भगवान अचलनाथ से होली खेलेंगे। अखिल भारत हिंदू महासभा की बैठक हिंदू महासभा भवन, दौलतगंज लश्कर पर हुई। बैठक में होली के अवसर पर फागुन के लोकगीत 16 एवं 17 मार्च को चामुंडा धाम कोटेश्वर मंदिर , कोटेश्वर रोड पर होंगे।

बालाजी मंदिर में जलेगी नारियल की होली

संकट मोचन हनुमान बालाजी मंदिर गोलपाड़ा के चरण सेवक जगबीर दास तोमर ने इस वर्ष भी मंदिर परिसर में लोगों द्वारा चढ़ाए गए नारियल की होली जलाई जाएगी। घर-घर होलिका दहन गली मोहल्लों में होलिका दहन हमें यह प्रमाणित करता है कि अग्नि समरथ है वह कुछ भी जला सकती है भस्म कर सकती है लेकिन परमात्मा के प्रेम और विश्वास को नहीं जला सकती।

हवेली श्रीनाथ में होली के आयोजन शुरू

हवेली श्रीनाथजी में 200 साल पहले की पंरपरा के अनुसार होली की त्योहार शुरू हो गया है। मुखिया यमुनेश नागर ने बताया कि इस प्राचीन हवेली में लगभग 200 वर्ष पूर्व से प्रभु श्रीनाथजी को ब्रज परम्परानुसार होली खेली जाती है। 16 मार्च को दोपहर 2 बजे झांझ मजीरे के साथ रसिया का आयोजन किया जाएगा। 18 मार्च को दोपहर 2 बजे उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र में श्रीजी को डोल झुलाया जाएगा।

बिजली लाइनों के नीचे नहीं करें होलिका दहन

ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने सभी बिजली उपभोक्ताओं तथा आम नागरिकों से अपील की है कि बिजली की ऐसी लाइनें जिसमें विद्युत शक्ति प्रवाहित होती है, उनके नीचे और ट्रांसफार्मर के समीप होलिका दहन नहीं करें।

खबरें और भी हैं...