गृहमंत्री के गढ़ में सिंधिया समर्थक की सेंध:डबरा जनपद के लिए बाड़ाबंदी, 18 सदस्यों को लेकर इमरती दिल्ली में डटीं; समर्थक का अध्यक्ष बनना तय

ग्वालियर6 महीने पहले

ग्वालियर का डबरा राजनीति का अखाड़ा बनता जा रहा है। यहां कांग्रेस-भाजपा नहीं, बल्कि भाजपा के दो दिग्गज आमने-सामने हैं। प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा और सिंधिया समर्थक इमरती देवी में शीत युद्ध चल रहा है। यह टकराव डबरा जनपद के चुनाव में भी देखने को मिल रहा है।

डबरा जनपद पंचायत को कुछ समय पहले तक गृहमंत्री के कोटे में माना जा रहा था, पर सिंधिया समर्थक पूर्व मंत्री इमरती देवी ने मिश्रा के गढ़ में सेंधमारी कर दी है। 25 में से 18 सदस्यों की बाड़ाबंदी कर वह दिल्ली पहुंच गई हैं। वहां केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के दिल्ली स्थित निवास पर जाकर मुलाकात भी की। इसका एक VIDEO भी मंगलवार को सामने आया। इमरती ने इन सदस्यों को दिल्ली में रखा है। माना जा रहा है कि वे गुरुवार को सीधे वोटिंग के लिए डबरा पहुंचेंगे।

25 में से 18 सदस्य इमरती के पास होने का दावा डबरा जनपद अध्यक्ष के लिए चुनाव गुरुवार काे होना हैं। इस बार जनपद अध्यक्ष के पद पर पूर्व मंत्री और सिंधिया समर्थक लघु उद्योग निगम की अध्यक्ष इमरती देवी के समर्थक सुमन का बनना तय है। 25 में से 18 जनपद सदस्य उनके पास हैं और वे जिसे चाहेंगी, उसे डबरा का जनपद अध्यक्ष बनाएगी। इस बार यह सीट अनारक्षित वर्ग के लिए आरक्षित है। इससे पहले जनपद अध्यक्ष के लिए पूर्व में जो नाम निकलकर सामने आया था, उनमें मिश्रा समर्थक पूर्व जनपद अध्यक्ष रामेश्वर तिवारी का नाम प्रमुख था।

इमरती देवी ने जनपद सदस्यों के साथ केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की।
इमरती देवी ने जनपद सदस्यों के साथ केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की।

ये हो सकते हैं जनपद अध्यक्ष
डबरा जनपद अध्यक्ष के लिए प्रवेश मेहताब गुर्जर और वृंदावन बघेल ऐसे नाम हैं, जिनका अध्यक्ष बनने का दावा काफी मजबूत माना जा रहा है। दोनों ही सिंधिया समर्थक इमरती के करीबी हैं। अब इनमें से किसके सिर पर ताज सजता है, यह तो गुरुवार को साफ हो जाएगा।

इधर, जिला पंचायत ग्वालियर पर राज्यमंत्री का दावा मजबूत
ग्वालियर जिला पंचायत के अध्यक्ष के लिए भी जोड़तोड़ शुरू हो गई है। जिला पंचायत के ज्यादातर सदस्य का किसी से संपर्क नहीं हो रहा है। यहां जिला पंचायत ग्वालियर के अध्यक्ष की सीट एससी महिला वर्ग के लिए आरक्षित है। वार्ड 7 नेहा मुकेश परिहार (गृहमंत्री की खास) और वार्ड-3 दुर्गेश (राज्यमंत्री भारत सिंह की खास) में से किसी एक का अध्यक्ष बनना तय था। पर हाल ही में पता लगा है कि नेहा मुकेश ने मिश्रा का पाला छोड़कर सिंधिया समर्थक का पाला पकड़ा है। यदि ऐसा है तो जिला पंचायत में राज्यमंत्री भारत सिंह की दावेदारी मजबूत हो जाएगी। इसके साथ ही जनपद पंचायत मुरार में राज्यमंत्री भारत सिंह का दावा मजबूत है।

खबरें और भी हैं...