जिसे मान रही थी पुलिस हादसा वो निकली हत्या...:फाइनेंस कर्मचारी के गले ने खोला मौत का राज, पोस्टमार्ट रिपोर्ट में गला दबाकर मारने का हुआ खुलासा

ग्वालियरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो मृतक - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो मृतक
  • पीएम रिपोर्ट में डॉक्टर ने कहा होमीसाइडल डेथ हुई है

शहर में आठ दिन पहले फाइनेंस कर्मचारी के शव मिलने के बाद पुलिस उसे हादसा मान रही थी। शरीर पर कहीं भी चोट के निशान नहीं थे, लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में वह हत्या निकली है। फाइनेंस कर्मचारी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसे होमी साइडल (गला दबाकर) मौत की बात सामने आई है। अब इस मामले में पुलिस की जांच की थ्योरी बदल गई है। जबकि परिजन बार-बार चिल्लाकर कह रहे थे कि हत्या हुई है। उन्होंने कुछ लोगों के नाम भी पुलिस को बताए थे। जिनकी उनसे दुश्मनी चल रही है। फिलहाल पड़ाव थाना पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।
यह है पूरा मामला
गुरुवार की सुबह करीब साढ़े छह बजे सूचना मिली थी कि एक युवक का शव फूलबाग चौराहा कलारी के पास पड़ा हुआ है। खबर मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और जांच की तो पता चला कि मृतक बहोड़ापुर थाना क्षेत्र के शील नगर निवासी 30 वर्षीय सोमेश कौरव पुत्र रामेश्वर कौरव का था। वह तनुष्का ऑटोमोबाइल पर फाइनेंस कंपनी में काम करता था। शिनाख्ती के बाद पुलिस ने उसके परिजन को खबर दी। कुछ देर बाद ही परिजन भी आ गए। उनका आरोप था कि सोमेश के शरीर पर चोट के निशान है। उसकी हत्या की गई है। उन्होंने हत्या को लेकर कुछ लोगों पर शक जताया। इसके बाद वह पड़ाव थाने पहुंच गए। जहां नेता कमलेश कौरव भी आ गई। हत्या की बात कह कर FIR की मांग करते हुए काफी देर हंगामा किया। इस दौरान पुलिस मुर्दाबाद के नारे भी लगाए गए] लेकिन पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया। अब जब पीएम रिपोर्ट आई तो पुलिस भी हैरान रह गई। उसमें बताया कि गला दबाने से उसकी मौत हुई है। इसके बाद पड़ाव थाने में हत्या की एफआईआर दर्ज की गई।
घरवालों ने कहा था कुछ लोगों से है दूश्मनी
सोमेश मूलता भिंड के एंडोरी स्थित मानपुर गांव का रहने वाला था। मृतक सोमेश के परिवार की गांव के रहने वाले जगदीश से पुरानी रंजिश चल रही है। जगदीश वर्ष 2014 में फिर 2021 में इनके परिवार के लोगोंं पर हत्या के प्रयास की FIRकरा चुका है। इन लोगों ने भी उन पर मामला दर्ज कराया था। इसलिए मृतक के परिवार को शंका है कि सोमेश की हत्या हुई है और वह अपने दुश्मनों पर हत्या का आरोप लगा रहे थे।
दुश्मनी में मेरे भतीजे को मार डाला
घटना के दिन मृतक के चाचा रामाधार का कहना था कि उनके भतीजे की हत्या की गई है। उन्होंने बताया कि करीब 50 साल से हमारे गांव के कुछ लोगों से दुश्मनी चल रही है। वह लोग हम पर झूठी FIR भी करा चुके है। उन्ही लोगों ने दूश्मनी भुनाने के लिए सोमेश की हत्या की है।
पुलिस का कहना
- इस मामले में सीएसपी पड़ाव नागेन्द्र सिंह सिरकवार का कहना है कि सोमेश की हत्या हुई है। पीएम रिपोर्ट में खुलासा होने के बाद पड़ाव थाने में हत्या का मामला दज कर लिया है। उसकी फूलबाग चौराहे पर लाश मिली थी। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...