अग्निकांड:सीनियर ब्वायज हॉस्टल में लगी आग स्टूडेंट का ढाई लाख का सामान जला

ग्वालियर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • गजराराजा मेडिकल कॉलेज के हॉस्टल की घटना

गजराराजा मेडिकल कॉलेज के सीनियर ब्वायज हॉस्टल में शनिवार शाम को शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। इस आगजनी में मेडिकल स्टूडेंट का लैपटॉप, आईपेड सहित करीब ढाई लाख का सामान जल गया। आग पर फायर ब्रिगेड ने आकर काबू पाया अन्यथा आग दूसरे कमरों में भी पहुंच जाती। इस घटना के बाद मेडिकल स्टूडेंट में दहशत है। जीआरएमसी का सीनियर ब्वायज हॉस्टल जर्जर हो चुका है। यहां खुले में बिजली के तार लटक रहे हैं। दैनिक भास्कर ने इस खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इसके बाद सीनियर ब्वाइस हॉस्टल के छात्रों को रविशंकर हॉस्टल में बने नए हॉस्टल में शिफ्ट करने के कॉलेज कार्यकारिणी की बैठक में आदेश हुए थे।

इसके बाद भी न तो मेडिकल स्टूडेंट को नए हॉस्टल में शिफ्ट किया गया और न ही बिजली के लटकते तारों को हटाया गया। शनिवार की शाम को कमरा नंबर 93 में शॉर्ट सर्किट से आग लग गई। कमरे से धुआं उठता देख मेडिकल स्टूडेंट ने इसकी सूचना तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को देने के साथ-साथ फायर ब्रिगेड को दी। आग की लपटें कमरे की खिड़की से दिखाई दे रही थीं। फायर ब्रिगेड ने आग पर आकर काबू पाया। एक मेडिकल स्टूडेंट का करीब ढाई लाख का सामान जलकर स्वाहा हो गया। जूनियर डॉक्टर एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. श्रीकांत शर्मा का कहना है कि वह लंबे समय से हॉस्टल की दुर्दशा को लेकर शिकायत कर रहे हैं। इसके बाद भी कुछ नहीं किया गया। कॉलेज प्रशासन को मेडिकल स्टूडेंट के हुए नुकसान का हर्जाना देना चाहिए। इस बारे में वार्डन डॉ. सुरेंद्र यादव का कहना है कि शॉर्ट सर्किट से आग लगी थी। हॉस्टल को पहले ही खाली करने की प्रक्रिया पूर्व में ही शुरू हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...