• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Foods Product Sent To Merchant By Giving Dealership Of MP, Took Back The Goods After Expiry, But Not Returning The Cash

उत्तराखंड की कंपनी ने व्यापारी को ठगा:व्यापारी को MP की डीलरशिप देकर भेजे फूडस प्रोडक्ट, एक्सपायरी निकलने पर माल वापस लिया, लेकिन कैश नहीं लौटा रहे

ग्वालियर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • -कोतवाली थाने में व्यापारी की शिकायत पर

उत्तराखंड की एक कंपनी ने ग्वालियर के दाल बाजार के व्यापारी को MP की डीलरशिप देने के बाद फूडस प्रोडक्ट भेजे थे। पर कंपनी ने ग्वालियर के व्यापारी के साथ धोखा कर भोपाल में भी एक फर्म को डीलरशिप दे दी। इसके बाद भेजे गए ज्यादातर प्रोडक्ट जैसे अचार, सॉस, विनेगर व अन्य एक्सपायरी डेट निकले। कंपनी एक्सपायरी निकलने पर माल वापस तो बुलवा लिया, लेकिन नया माल नहीं भेजा। न ही व्यापारी के जमा 8 लाख रुपए लौटाए। घटना अगस्त 2020 से अभी तक की है। परेशान व्यापारी ने मामले की शिकायत अभी एक सप्ताह पहले ही कोतवाली थाना में की थी। जिस पर पुलिस ने उत्तराखंड की कंपनी पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है।

शहर के दाल बाजार निवासी राजकुमार गुप्ता पुत्र दयाराम गुप्ता व्यापारी है। वह सागर कंसायनी प्राइवेट लिमिटेड नाम की कंपनी के डायरेक्टर हैं। अगस्त 2020 में उत्तराखंड हरिद्वार के रूड़की की कंपनी बाउण्टीफुट फूडस प्राइवेट लिमिटेड से उनका करार हुआ था। उत्तराखंड की कंपनी ने उन्हें पूरे मध्यप्रदेश में उनकी कंपनी के प्रोडक्ट (अचार, सॉस, विनेगर, जैम) सप्लाई के लिए डीलरशिप दी थी। इसके लिए उन्होंने कंपनी के खाते में बतौर सुरक्षा राशि 4 लाख रुपए भी जमा करा दिए थे। इसके बाद कंपनी ने माल भेज दिया और उसका पैमेंट भी कर दिया। जब मॉल को चेक किया तो पता चला कि माल खराब एक्सपायरी डेट भी निकल चुकी है, इसकी शिकायत उन्होंने कंपनी से की तो उन्होंने भी माल खराब होने की पुष्टि की और पूरा माल वापसी के लिए कंपनी के अफसरों से कहते रहे, लेकिन उन्होंने माल वापस नहीं लिया। इस तरह कंपनी के डायरेक्ट निधि मित्रा, अवध कुमार, निलांजन मित्रा और विनोद कुमार से कई बार संपर्क किया, लेकिन उनके द्वारा कोई निराकरण नहीं किया और उन्हें 7 लाख 97 हजार 88 रुपए का नुकसान हुआ।
शतों का पालन नहीं किया, भोपाल में एजेंट बना दिया
व्यापारी ने शिकायत में यह भी बताया कि अनुबंध था कि पूरे मध्यप्रदेश में केवल वह ही कंपनी के सीएण्डएफ (डीलरशिप) हैं और उनके द्वारा ही माल की सप्लाई की जाएगी, लेकिन उन्होंने और भी एजेंट नियुक्त कर दिए। सुपरस्टॉकिस्ट को भी माल सप्लाई कर उनके साथ धोखाधड़ी की। उनकी शिकायत पर पुलिस ने धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है।
पुलिस का कहना
- इस मामले में थाना प्रभारी राजीव गुप्ता का कहना है कि दाल बाजार के व्यवसायी राजकुमार गुप्ता की शिकायत पर बाउण्टीफुट कंपनी के नेशनल हेड सहित डायरेक्टरके खिलाफ मामला दर्ज कर जांच की जा रही है। जांच में जो भी तथ्य आएंगे उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।