• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • GST Raids On Four Locations Including Vardhman Agency's Office In Madhavnagar, Seizing Records And Investigation Started

ग्वालियर में GST का छापा:माधवनगर में वर्धमान एजेंसी के ऑफिस समेत 4 ठिकानों पर मारा छापा, रिकॉर्ड जब्त कर जांच शुरू

ग्वालियर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
वर्धमान एजेंसी पर दस्तावेजों की जांच करती GST की टीम, शाम तक कितने की कर चोरी पकड़ी है, इसका खुलासा नहीं किया है। - Dainik Bhaskar
वर्धमान एजेंसी पर दस्तावेजों की जांच करती GST की टीम, शाम तक कितने की कर चोरी पकड़ी है, इसका खुलासा नहीं किया है।

ग्वालियर में वर्धमान एजेंसी के माधवनगर ऑफिस समेत 4 ठिकानों पर बुधवार को GST की टीम ने छापामार कार्रवाई की है। GST की टीम बुधवार को एक साथ माधवनगर स्थित एम-218 वर्धमान एजेंसी के ऑफिस समेत अन्य 4 ठिकानों पर एक साथ पहुंची। दस्तावेजों की छानबीन शुरू कर दी।

वर्धमान एजेंसी के 4 मकान माधवनगर में ही एम-218, 219 और 220 विजयानगर स्थित ई-91 पर पुलिस तैनात की गई है। GST की टीम ने सभी रिकॉर्ड से मिलान शुरू कर दिया है। शाम 7 बजे तक यह पता नहीं चल सका था कि छापामार कार्रवाई में कितने की कर चोरी पकड़ी गई है।

ये है पूरा मामला
जीएसटी विभाग को कुछ दिनों से GST चोरी की शिकायतें मिल रही थी। इस पर विभाग द्वारा टीम बनाकर पड़ताल कराई गई, जब संदेह गहरा हाे गया कि वर्धमान एजेंसी में कर को लेकर कुछ गड़बड़ है, तो बुधवार को वर्धमान एजेंसी समेत 4 ठिकानों पर एक साथ GST के संयुक्त आयुक्त यूएस बैस, उपायुक्त सविता चौहान की नेतृत्व में कार्रवाई शुरू की गई है। वर्धमान एजेंसी टोरस बीड़ी और माचिस का काम करती है।

GST टीम के साथ मालिक विकास जैन ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया। शाम तक टीम माॅल की सेल, स्टॉक और रजिस्टर के साथ ही ऑनलाइन डेटा से मिलान कर रही थी। जिससे यह पता चल सके कि वर्धमान एजेंसी के संचालक विकास जैन ने कितना कर चोरी किया है। फिलहाल GST टीम इसका खुलासा नहीं कर सकी थी।

यह भी सूचना
जानकारी मिली है कि कोविड के दौरान लॉकडाउन में करोड़ों रूपए का लेन देन किया गया है, जिसका कागजों में उल्लेख नहीं है। GST टीम इसी बात का पता लगाने में जुटी थी। इसके अलावा लैपटॉप, ऑफिस के कम्प्यूटर की हार्ड डिस्क की तलाश में लेन-देन तलाशती रही है। GST विभाग की टीम ने कर चोरी में छापा मारकर कार्रवाई करने के लिए पुलिस बल DRP लाइन से लेने के बाद प्राइवेट सिक्युरिटी के करीब 30 जवान अलग से लगाए थे।

खबरें और भी हैं...