• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Gwalior Chilled By The North Wind, The Temperature Came At 8 Degree Celsius, Felt Cold At Night Than In The Day

24 घंटे में हवा से 5 डिग्री गिरा पारा...:उत्तरी हवा से ठिठुरा ग्वालियर, 8 डिग्री सेल्सियस पर आया तापमान, दिन की अपेक्षा रात को हुआ सर्दी का अहसास

ग्वालियर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सुबह-सुबह शहर में हल्की सी धुंध रही है - Dainik Bhaskar
सुबह-सुबह शहर में हल्की सी धुंध रही है
  • अब लगातार ठंड बढ़ेगी

24 घंटे में मौसम ने यू-टर्न ले लिया है। रात को जो न्यूनतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था वह कुछ ही घंटों में 8 डिग्री सेल्सियस पर आ गया है। अचानक ठंड बढ़ गई है। अरब सागर में बना कम दबाव का क्षेत्र कमजोर पड़ने से हवाओं का रुख बदलने लगा है और मंगलवार को उत्तर से पश्चिम दिशा की ओर हवा चली।

इस हवा ने उत्तर के पहाड़ों से बर्फीली ठंडक लाना शुरू कर दिया है। यही कारण है कि सोमवार-मंगलवार दरमियानी रात लोगों को ठिठुरन वाली ठंड का अहसास हुआ है। मंगलवार सुबह न्यूनतम तापमान 8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। एक दिन पहले तक यह 13 डिग्री पर था। एक दिन में 5 डिग्री सेल्सियस का अंतर आ गया है।
अंचल के मौसम पर अभी तक अरब सागर व बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र असर डाल रहा था। यहां लॉ प्रेशर एरिया बनने के बाद हवाओं का रुख दक्षिणी हो गया था। यह हवा अपने साथ नमी ला रह थी, जिससे तीन दिनों तक हल्की बारिश भी हुई थी। पर सोमवार को तीन दिन से हल्की बारिश या छाए बादल का सिलसिला थम गया था, लेकिन हवा शांत थी। इससे तापमान में उछाल गया था। सोमवार रात से आसमान पूरी तरह से साफ हो गया है। कोहरा भी नहीं छाया। दृश्यता भी 3 से 4 किलोमीटर तक पहुंच गई। तीन दिन पहले रात का तापमान 17 डिग्री सेल्सियस पर था। एक दिन पहले तक तापमान 13 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ था, लेकिन उत्तरी हवा से पारा कांप गया। 5 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज हुई। दिन में भी ठंडक रहेगी।
आगे ऐसा रहेगा मौसम
- बंगाल की खाड़ी में बना कम दबाव का क्षेत्र खत्म हो चुका है। अरब सागर में बना कम दबाव का क्षेत्र कमजोर पड़ चुका है। 24 घंटे में पूरी तरह से खत्म हो जाएगा। इसके कमजोर होने से मौसम प्रभावित नहीं हो पा रहा है। ग्वालियर में दक्षिण हवा चलने की संभावना खत्म हो गई।
- हवा उत्तर से पश्चिम की ओर चलेगी। यह हवा जम्मू कश्मीर से ठंडक लेकर आएगी, जिससे न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस या उससे नीचे दर्ज होगा। रात व सुबह के समय हल्का कोहरा रहेगा।
- नवंबर के अंत तक मौसम बिगड़ने के आसार नहीं है। क्योंकि कोई सिस्टम नहीं है, जिससे मौसम प्रभावित हो सके।
- नवंबर के अंत के सप्ताह में शहर को ठंड का सामना करना पड़ेगा।

क्या कहते हैं एक्सपर्ट
- मौसम पर बारीक नजर रखने वाले रडार प्रभारी मौसम केन्द्र भोपाल वेद प्रकाश सिंह का कहना है कि अरब सागर का सिस्टम कमजोर पड़ चुका है। इस कारण हवा का रुख उत्तर से पश्चिम हो गया है। रात के तापमान में धीरे-धीरे गिरावट जारी रहेगी। इससे रात में ठंड बढ़ेगी। फिलहाल मौसम ऐसा ही रहेगा।