• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Gwalior Fort, Sahastrabahu's Temple Closed For 2 Months, Tourism Lovers Will Be Able To Visit Mitawali Padawali

कल से ASI के पर्यटन स्थल खुलेंगे:केंद्र का आदेश देखकर MP ने भी टूरिस्ट स्पॉट खोलने को हरी झंडी दी; आखिरी फैसला जिले की क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी करेगी

मध्यप्रदेशएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

अगर आप ग्वालियर का किला, मांडू का जहाज महल, खजुराहो और पंचमढ़ी की पांडव गुफा समेत आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (ASI) के ऐतिहासिक स्थलों को घूमने जाने का प्लान बना रहे हैं तो पहले पता कर लें कि जिस जगह जा रहे, उस जिले के प्रशासन ने क्या फैसला किया है? ASI ने 16 जून से देश के सभी मॉन्यूमेट्स (पर्यटन स्थल) को अनलॉक करने के आदेश दिए हैं,। इसके बाद राज्य सरकार ने भी खोलने के आदेश दे दिए हैं। खोलने पर अंतिम फैसला जिला क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी करेगी।

ASI ने आदेश तो दे दिए हैं, लेकिन स्टेट में संक्रमण की क्या स्थिति है और उस जिले की क्या स्थिति है, ये देखकर वहां के कलेक्टर को मॉन्यूमेट्स खोलने के अधिकार होंगे। मतलब ये कि खुलना तय है लेकिन संक्रमण की स्थिति को देखते हुए यह कब और किस स्वरूप और बंदिश के साथ अनलॉक होंगे, इस पर मंथन जारी है। मंगलवार शाम 5 के बाद राज्य सरकार के आदेश के बाद अब जिला क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी जल्द निर्णय ले सकती हैं।

तानसेन के गुरु मोहम्मद गौस का मकबरा, यहां सालाना उनके नाम पर संगीत समारोह होता है। -फाइल फोटो।
तानसेन के गुरु मोहम्मद गौस का मकबरा, यहां सालाना उनके नाम पर संगीत समारोह होता है। -फाइल फोटो।

कोरोना की दूसरी लहर के साथ ही 15 अप्रैल से देश के सभी मॉन्यूमेंट्स को बंद कर दिया गया था। दो महीने तक कोरोना के प्रकोप के चलते जनता कर्फ्यू में लोग घरों में कैद रहे हैं। हालांकि, अब संक्रमण काबू में है और लोग पर्यटन स्थल घूमने के लिए बेताब हैं। यही कारण है कि आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (ASI) ने आदेश जारी किए हैं कि 16 जून से देश के सभी मॉन्यूमेंट्स खोले जाएं।

आदेश में यह हवाला भी था कि स्टेट और जिला में संक्रमण की स्थिति को देखकर निर्णय लिया जाए। यही लाइन पेंच बनी हुई है। मध्यप्रदेश में अभी तक मॉन्यूमेंट्स को लेकर स्टेट की गाइडलाइन जारी नहीं हुई है। स्टेट की गाइडलाइन आने के बाद ग्वालियर कलेक्टर और क्राइसिस मैनेजमेंट के सदस्य इस पर आगे फैसला लेंगे, क्योंकि जिले की जिम्मेदारी कलेक्टर के पास रहेगी।

ग्वालियर में ये हैं ASI के मॉन्यूमेंट्स

  • ग्वालियर फोर्ट स्थित राजा मानसिंह महल
  • सहस्त्रबाहु मंदिर जिसे शहर में सास-बहू का मंदिर कहने लगे हैं
  • तेली का मंदिर, यह काफी प्राचीन बताया जाता है
  • मोहम्मद गौस व तानसेन का मकबरा

मुरैना में मॉन्यूमेंट्स

  • मितावली-पढ़ावली यहां भगवान शिव के आकर्षक मंदिर व संसद भवन की तरह की इमारत दर्शनीय है
  • नरेश्वर ककनट यह भी प्रचीन पर्यटन स्थलों में से एक है
कोरोना से पहले कुछ इस तरह गुलजार रहता था मांडू का किला। -फाइल फोटो।
कोरोना से पहले कुछ इस तरह गुलजार रहता था मांडू का किला। -फाइल फोटो।
खजुराहो का मंदिर। -फाइल फोटो।
खजुराहो का मंदिर। -फाइल फोटो।

अभी स्टेट गाइडलाइन का इंतजार है

हमें स्टेट की गाइडलाइन नहीं मिली है। सरकार जब भी पर्यटन स्थलों के लिए गाइडलाइन जारी करेगी, उसको देखते हुए ही निर्णय लिया जाएगा। अभी स्मारक कब से खुलेंगे ,यह नहीं कह सकता।

कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, कलेक्टर ग्वालियर

इसी पर बात चल रही है

16 जून से आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (ASI) ने देश के सभी मॉन्यूमेंट्स अनलॉक करने के आदेश जारी कर दिए हैं। स्टेट या जिला की गाइडलाइन को लेकर अभी हम बात कर रहे हैं। इसलिए ज्यादा नहीं बता सकता।

डॉ. पीके मिश्रा, ऑफिसर (ASI) भोपाल रीजन

खबरें और भी हैं...