अमृत वर्षा:प्रदेश में ग्वालियर का दिन सबसे ठंडा, 14.1 डिग्री अभी 3 दिन और बारिश

ग्वालियर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पौष में सावन सी झड़ी लग गई है। शहर में लगातार 30 घंटे से रुक रुककर बारिश हाे रही है। गुरुवार काे सुबह 8:30 बजे से लेकर शाम 8:30 बजे तक 12 घंटे के दौरान 27.6 मिमी बारिश दर्ज हुई। लगातार बारिश होने से गुरुवार को ग्वालियर का दिन प्रदेश में सबसे ठंडा रहा। इसके साथ ही सीजन का भी सबसे ठंडा दिन रिकॉर्ड हुआ।

अधिकतम तापमान 8.2 डिग्री सेल्सियस गिरावट के साथ 14.1 डिग्री दर्ज किया गया। जबकि न्यूनतम तापमान 11.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के असर व अरब सागर से आ रही नमी के चलते लगातार बारिश हुई है। अभी 3 दिन तक ग्वालियर-चंबल संभाग में ऐसे ही बारिश का दौर चलेगा। यह मावठ ज्यादातर फसलों के लिए फायदेमंद है।

7 साल बाद जनवरी का दिन सबसे ठंडा

7 साल बाद जनवरी में गुरुवार का दिन सबसे ठंडा रहा। इससे पहले 22 जनवरी 2015 को अधिकतम तापमान 14 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ था। इस दिन 15 मिमी बारिश हुई थी। इस तरह 7 साल बाद जनवरी में फिर से गुरुवार को अधिकतम तापमान 14.1 डिग्री दर्ज हुआ।

बारिश का दौर अभी 3 दिन और रहेगा

पश्चिमी विक्षोभ के असर से अरब सागर से नमी आ रही है। राजस्थान के ऊपर एक प्रेरित चक्रवातीय घेरा बना हुआ है। इससे 3 दिन तक ग्वालियर-चंबल संभाग में बारिश का दौर जारी रहेगा। ओलावृष्टि भी हो सकती है।
-वेद प्रकाश सिंह, वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक

सरसों को छोड़ अन्य के लिए फायदेमंद

दो से तीन दिन बारिश हुई तो आलू और सरसों की फसल को नुकसान हो सकता है। अधिक बारिश से सरसों के फूल झड़ने का डर है। जबकि यह मावठ अन्य फसलों के लिए फायदेमंद है। बशर्ते जलभराव नहीं होना चाहिए।
-डॉ. सुभाष कटारे, कृषि वैज्ञानिक

खबरें और भी हैं...