देवर भाभी को स्मैक के साथ पकड़ा:ग्वालियर में 10 लाख रुपए की स्मैक लगानी थी ठिकाने, केस दर्ज

ग्वालियर11 दिन पहले

ग्वालियर में स्मैक की खेप लेकर आए एक देवर-भाभी तस्कर की जोड़ी को मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने बड़ागांव के पास से पकड़ा है। पुलिस को तस्करों की तलाशी में उनके पास से 100 ग्राम स्मैक मिली है। बरामद की गई स्मैक की कीमत करीब 10 लाख रुपए बताई जा रही है। पुलिस ने पकड़े गए तस्करों के खिलाफ NDPS ACT के तहत मामला दर्ज कर उससे पूछताछ शुरू कर दी है।

एडिशनल एसपी राजेश दंडोतिया ने बताया कि सूचना मिली थी कि एक महिला-पुरुष तस्कर स्मैक की खैप लेकर आने वाले हैं। इसका पता चलते ही क्राइम ब्रांच व मुरार पुलिस को तस्करों को पकड़ने का टॉस्क दिया गया। जिस पर थाना प्रभारी क्राइम ब्रांच दामोदर गुप्ता व मुरार थाना प्रभारी शैलेंद्र भार्गव बल के साथ बड़ागांव पहुंचे और स्मैक लेकर आ रहे तस्कर महिला पुरूष को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए तस्कर की तलाशी ली तो उसके पास से 100 ग्राम स्मैक बरामद हुई। पुलिस पूछताछ में पकड़े गए आरोपी की पहचान 45 वर्षीय गीता निवासी माधौगंज और पंजाब सिंह गुर्जर निवासी मुरैना के रहने वाले बताए गए हैं। पूछताछ करने पर दोनों ने अपने आपको देवर भाभी बताया है पकड़े गए तस्करों का कहना है कि वह काफी समय से माधौगंज में रहकर यह धंधा चला रहे हैं।

पहले भी जेल जा चुकी है गीता

पकड़ी गई महिला तस्कर स्मैक बेचने के मामले में पहले भी जेल में सजा काट चुकी है। फिलहाल पकड़े गए दोनों स्मैक तस्करों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस अफसरों का मानना है कि पकड़े गए तस्करों से पूछताछ के बाद उसके अन्य साथियों का पता चल सकता है और कई लिंक मिल सकती है ।