• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Having Made Beautiful Carpets, The Disease Of The Spinal Cord, When The Pain Became Unbearable, He Left The World By Hanging

दर्द ने ले ली जान:कालीन बनाते-बनाते पाल लिया रीढ़ की हड्‌डी का रोग, जब दर्द असहनीय हुआ तो फांसी लगा ली

ग्वालियर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पोस्टमार्टम हाउस पर जांच करते पुलिसकर्मी - Dainik Bhaskar
पोस्टमार्टम हाउस पर जांच करते पुलिसकर्मी

ग्वालियर में कालीन बनाते-बनाते रीढ़ की हड्‌डी में जीवन भर का दर्द ले लिया। जब असहनीय दर्द हुआ, तो कारीगर ने फांसी लगा ली। घटना का पता रविवार सुबह लगा। घटना बहोड़ापुर के सुभाष नगर की है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को नियंत्रण में लिया। शव का पोस्टमाॅर्टम रविवार दोपहर हुआ। पुलिस ने मर्ग कायम कर पड़ताल शुरू कर दी है।

बहोड़ापुर थाना पुलिस ने बताया, सुभाष नगर निवासी राशिद खान (47) पुत्र मुमत्याज खान कालीन का कारीगर था। उसके हाथ से बनाई कालीन के दीवाने शहर और बाहर के लोग भी थे। एक कालीन बनाने में 7 से 8 दिन का समय लगता था। वह घंटों बैठकर काम करता था। ऐसे में राशिद की रीढ़ की हड्डी में दर्द शुरू हो गया। उपचार के बाद भी आराम नहीं मिल रहा था। जब भी वह काम करने बैठता, तो दर्द होने लगता। कालीन बनाना शौक और मजबूरी दोनों था। कई दिन से उसे असहनीय दर्द हो रहा था। वह कई बार जान देने की बात भी कह चुका था।

देर रात लगा ली फांसी

शनिवर रात 2 बजे बिजली जाने पर राशिद और परिवार एक साथ घर के बाहर बैठा था। करीब सुबह 4 बजे लाइट आने पर सभी अंदर चले गए। सुबह 8 बजे जब परिजन की नींद खुली, तो राशिद कमरे के बाहर फंदे पर लटका मिला।

खबरें और भी हैं...