• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Here Aadhar Card Has To Be Shown To Eat Water Puri... Golgappas Are Not Fed To Children, Women, Elderly People On Bhagat Street Corner

सबसे तीखी पानी पूरी का दावा:ग्वालियर में गोलगप्पे खाने से पहले दिखाना पड़ता है आधार कार्ड; बच्चों, महिलाओं, बुजुर्गों को नहीं खिलाए जाते

ग्वालियर6 महीने पहलेलेखक: रामेंद्र परिहार

क्या आपने कभी सुना है कि किसी स्ट्रीट फूड कॉर्नर पर आप पानी पूरी खाने जाएं और चाट वाला आपको पानी पूरी देने से पहले आधार कार्ड दिखाने के लिए कहे। सुनने में कुछ अजीब सा लग रहा होगा, लेकिन यह सच है।

मध्यप्रदेश के ग्वालियर में भगत स्ट्रीट फूड पर बिना आधार कार्ड दिखाए पानी पूरी (गोलगप्पे) नहीं खिलाए जाते हैं, क्योंकि छोटेलाल भगत का दावा है कि वह दुनिया का सबसे तीखा पानी बनाते हैं, जिसे 18 साल से कम उम्र के बच्चे, 50 साल से अधिक उम्र के बुजुर्ग और महिलाएं नहीं खा सकती हैं और अगर वह चोरी-छिपे या उम्र छिपाकर पानी पूरी पी जाते हैं तो उनका बीमार होना स्वाभाविक है। छोटेलाल कहते हैं कि पानी इतना तीखा होता है कि टिक्की मुंह में रखते ही करंट जैसा झटका लगता है। फिर भी लोग उसका लुफ्त लेते हैं।

छोटेलाल भगत पानीपूरी खिलाते हुए।
छोटेलाल भगत पानीपूरी खिलाते हुए।

महिलाओं और युवतियों की नहीं... युवाओं की जुटती है भीड़
आमतौर पर गोलगप्पों की दुकान पर महिलाओं और युवतियों की भीड़ जुटती है लेकिन गोला का मंदिर भिंड रोड पर छोटेलाल उर्फ सीताराम भगत के भगत स्ट्रीट पॉइंट पर सिर्फ पुरुष ही आते हैं। इनमें 18 साल के युवा से लेकर 50 साल की उम्र के लोग शामिल होते हैं।

37 साल से है दुकान
भगत बताते हैं कि वे 1984 से गोलगप्पे की दुकान चलाते हैं। जब वे 13 साल के थे तब सिर पर पानी पूरी की डलिया लेकर गली-गली घूमा करते थे। फिर ठेला खरीदा और आज उनके चार स्टॉल हैं। वे 10 रुपए में 4 गोलगप्पे खिलाते हैं।

आधार कार्ड देखकर ही भगत पानी पूरी खिलाते हैं।
आधार कार्ड देखकर ही भगत पानी पूरी खिलाते हैं।

जलजीरा पानी है स्पेशल
छोटेलाल बताते हैं कि गोलगप्पे के पानी के लिए वह खास तरीके से पानी तैयार करते हैं। इसमें वे जलजीरा का भी यूज करते हैं। साथ ही जलजीरा की मदद से हरी मिर्च का पेस्ट भी तैयार करते हैं। इसमें रेड चिली पाउडर भी भरपूर मात्रा में डालते हैं।

ग्राहकों को पसंद हैं भगत के गोलगप्पे

  • भगत स्ट्रीट कॉर्नर पर पानीपूरी का आनंद ले रहे भाजपा प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य बृजेन्द्र भदौरिया का कहना है कि जिन्हें तीखा पसंद है उनके लिए तो यह गोलगप्पे स्वाद से भरे हैं। हमें तो कभी तीखा नहीं लगा। हां जब गोलगप्पे को मुंह में डालते हैं तो एक सेकंड के लिए झटका सा लगता है उसके बाद सब सामान्य हो जाता है।
  • सेना के जवान मानसिंह ने बताया कि तीखा जलजीरा पानी की अपनी अलग बात है और यही भगत जी को खास बनाती है। यहां आकर पानीपूरी खाने में मजा आता है, हाजमा भी सही हो जाता है।

ग्राहकों को प्यार और राधे के आशीर्वाद से चलता है कारोबार
छोटेलाल कहना है कि ग्राहकों का प्यार और राधे का आशीर्वाद से उनका कारोबार चल रहा है। उन्होंने बताया कि कई बार महिलाएं, युवतियां और बच्चे खाने की जिद करते हैं लेकिन वे मना कर देते हैं। उनके लिए पास में ही दूसरा स्टॉल लगाया गया है।