• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • If Private People Are Found Working In The Property Tax And Zonal Offices Of The Corporation, There Will Be FIR

एडवाइजरी जारी:निगम के संपत्तिकर और जोनल कार्यालयों में प्राइवेट लोग काम करते मिले तो होगी एफआईआर

ग्वालियर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अब नगर निगम के संपत्तिकर विभाग और जोनल कार्यालयों में यदि प्राइवेट लोग काम करते पाए जाएंगे तो उन पर एफआईआर दर्ज की जाएगी। यदि ऐसा नहीं किया गया तो संबंधित विभाग के कर संग्राहक, सहायक कर अधिकारी, क्षेत्रीय अधिकारियों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। नगर निगम कमिश्नर किशोर कन्याल ने इस संबंध में बुधवार को एक एडवाइजरी सभी अधिकारी-कर्मचारियों को जारी की।

निगम कमिश्नर ने अपने पत्र में दैनिक भास्कर की खबर का हवाला देते हुए यह एडवाइजरी जारी की। कमिश्नर ने अपने पत्र में लिखा है कि जैसा की दैनिक भास्कर ने अपने 6 अक्टूबर के अंक में ‘सालाना 70 करोड़ रुपए की संपत्ति कर वसूली, निगम के जोनल कार्यालयों में प्राइवेट लोग कर रहे खुलेआम सौदेबाजी’ शीर्षक से खबर प्रकाशित कर इस मामले को उजागर किया था। उस मामले को लेकर अब संपत्तिकर विभाग व जोनल कार्यालयों में प्राइवेट लोगों का आना, काम करना या उपभोक्ताओं से लेन-देन करना बर्दाश्त नहीं होगा। इन पर एफआईआर कराना ही होगी।

ज्ञात हो कि दैनिक भास्कर के स्टिंग ऑपरेशन के बाद दो अपर आयुक्त राजेश श्रीवास्तव व मुकुल गुप्ता इस मामले की जांच कर रहे हैं। तीन कर संग्राहकों को नोटिस दिए गए। एक ने जवाब दिया है और दो कर संग्राहकों ने अब तक जवाब प्रस्तुत नहीं किए हैं।

अपर आयुक्त राजेश श्रीवास्तव ने बताया, इस मामले में लिप्त प्राइवेट लोगों पर एफआईआर दर्ज होगी और दोषी कर संग्राहकों पर कार्रवाई तय है। उधर, नगर निगम के सभी 66 वार्ड के जोनल कार्यालयों व संपत्तिकर विभाग में काम करने वाले प्राइवेट लोगों ने ऑफिस आकर काम करने के बजाय सीधे क्षेत्र में काम करना शुरू कर दिया है और फोन के जरिए कर संग्राहकों के संपर्क में काम जारी रखे हुए हैं। इस तथ्य को भी जांच अधिकारी संज्ञान में ले चुके हैं।

खबरें और भी हैं...