इंजीनियर ने दहेज में मांगी स्विफ्ट कार और 15 लाख:ग्वालियर में हेड कॉन्स्टेबल की बेटी से तोड़ी सगाई, लड़केवाले बोले-समधी ने धमकाया

ग्वालियर6 महीने पहले

ग्वालियर में हेड कॉन्स्टेबल ने इंजीनियर के खिलाफ दहेज एक्ट के तहत केस दर्ज कराया है। हेड कॉन्स्टेबल का कहना है कि उन्होंने बेटी की शादी इंजीनियर के साथ तय की थी। सगाई के बाद इंजीनियर लग्जरी कार और 15 लाख रुपए दहेज मांगने लगा। कार और रुपए देने से मना करने पर रिश्ता तोड़ दिया। शिकायत के बाद इंजीनियर और उसके माता-पिता के खिलाफ दहेज एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है। इधर लड़के वालों का कहना है कि उन्हें धोखे में रखकर रिश्ता किया। उन्हें ने पुलिस वाले समधी पर धमकाने का भी आरोप लगाया।

गोले का मंदिर थाना क्षेत्र के कुंज विहार फेज-1 में सुरेश शर्मा रहते हैं। वह कोर्ट में हेड कॉन्स्टेबल हैं। वर्तमान में कोर्ट में पदस्थ हैं। उन्होंने चार दिन पहले जनसुनवाई में एसपी अमित सांघी को आवेदन दिया। इसमें बताया- उन्होंने अपनी बेटी की सगाई बलराम नगर में रहने वाले सचिन दुबे के साथ तय की थी। रिश्ता तय करते वक्त लड़के वालों ने दहेज नहीं लेने की बात कही थी। कार्यक्रम 4 अप्रैल 2022 को पिंटो पार्क पर स्थित निजी होटल में हुआ था। सगाई में शगुन के तौर पर सचिन को 51 हजार रुपए नकदी और सोने की अंगूठी दी थी। शादी 10 दिसंबर 2022 को होना तय हुई थी। इसके बाद शादी की तैयारियों में जुट गए। मैरिज गार्डन, हलवाई, डेकोरेशन और अन्य लोगों को एडवांस भी दे दिया।

4 अप्रैल 2022 को पिंटो पार्क के पास होटल में सगाई का कार्यक्रम हुआ था।
4 अप्रैल 2022 को पिंटो पार्क के पास होटल में सगाई का कार्यक्रम हुआ था।

फिर मांगने लगे कार और रुपए

सचिन तब दिल्ली में प्राइवेट कंपनी में जॉब करता था। वर्तमान में वह शिक्षा विभाग में नौकरी के लिए तैयारी कर रहा है। सगाई के कुछ दिन बाद ही सचिन, उसके पिता सुशील दुबे, मां गीता दुबे 15 लाख रुपए और एक स्विफ्ट डिजायर कार मांगने लगे। जब हेड कॉन्स्टेबल ने कार और रुपए देने में असमर्थता जताई, तो सगाई तोड़ दी। सगाई के कार्यक्रम में हेड कॉन्स्टेबल का पहले ही काफी पैसा खर्च हो चुका था। जब उन्होंने सगाई में दिए हुए पैसे और सोने के जेवर वापस मांगे, तो लड़के वालों ने इनकार कर दिया।

आरोपी पहले भी ऐसा कर चुके

हेड कॉन्स्टेबल ने बताया कि पहले भी सचिन के माता-पिता ने इसी तरह से भिंड में अन्य लड़की के साथ सगाई की थी, वहां भी लड़की वालों से दहेज मांगा था। लड़की वालों ने मना कर दिया, तो उनसे भी सगाई तोड़ ली थी। शिकायत के बाद एसपी अमित सांघी ने गोले का मंदिर पुलिस को आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कराने का आदेश दिया। एडिशनल एसपी राजेश दंडोतिया का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है।

लड़के वालों ने भी की शिकायत
लड़के वालों ने भी 21 जून को एसपी को आवेदन दिया था। इसमें लड़की वालों पर ही आरोप लगाया गया था। आवेदन में बताया गया कि उन्हें धोखे में रखकर रिश्ता तय किया गया था। लड़की-लड़के की अकेले में बातचीत भी नहीं करवाई गई। लड़की के पिता यानी सुरेश शर्मा ने बताया कि वे शराब नहीं पीते, जबकि ये बात भी झूठ निकली। यही नहीं, बातचीत करने जब सुरेश शर्मा को घर बुलाया, तो वे झूठा केस लगाने और जेल में डालने की धमकी देकर गए। इससे हम डर गए।

खबरें और भी हैं...