बीबीए-एमबीए परीक्षा -2021:आईआईटीटीएम की ऑनलाइन परीक्षा आज से, 3 की जगह अब 2 घंटे का होगा पेपर

ग्वालियर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच विद्यार्थियों की परीक्षा प्रभावित न हो इसे देखते हुए इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टूरिज्म एंड ट्रैवल मैनेजमेंट (आईआईटीटीएम) में सोमवार से एमबीए और बीबीए के विद्यार्थियों की ऑनलाइन परीक्षा शुरू होने जा रही है। ऑफलाइन परीक्षा के मुकाबले ऑनलाइन परीक्षा में कई बड़े बदलाव किए गए हैं। सबसे बड़ा बदलाव यह है कि पेपर का समय 1 घंटे कम किया गया है।

ऑनलाइन पेपर 3 की जगह 2 घंटे का ही होगा। परीक्षा में शामिल होने वाले विद्यार्थियों को ऑनलाइन पेपर एक्सेस करने के लिए यूजर आईडी और पासवर्ड दे दिया गया है। दो पाली में होने वाली परीक्षा की पहली पाली सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक होगी। इसमें बीबीए के विद्यार्थी सम्मिलित होंगे। शाम 4 से 6 बजे की पाली में एमबीए के विद्यार्थियों का पेपर होगा। संस्थान के डायरेक्टर प्रो. आलोक शर्मा ने बताया कि देश के पांच सेंटर्स पर एक साथ ऑनलाइन परीक्षा होगी। इसके लिए प्रत्येक कैंपस में ऑनलाइन निगरानी के लिए कंट्रोल रूम बनाए गए हैं।

5 सवाल ही हल करना होंगे
ऑफलाइन पेपर में 10 सवाल आते थे। इनमें 5 छोटे सवाल और 5 बड़े सवाल रहते थे। ऑनलाइन परीक्षा के लिए पेपर का स्वरूप भी बदला गया है। इसमें 5 छोटे सवाल कम कर दिए गए हैं। अब केवल 5 बड़े ही सवाल विद्यार्थियों को हल करना होंगे। प्रत्येक प्रश्न 12 अंक का होगा। इस तरह 60 अंक का पेपर आएगा। इन पांच प्रश्नों में भी विद्यार्थियों को विकल्प दिया जाएगा। विद्यार्थी को तय समय सीमा में ही उत्तर लिखना होंगे।

ऑनलाइन परीक्षा के नियम

  • परीक्षा के समय विद्यार्थी रूम में अकेला रहेगा। पेपर शुरू होने से पहले कैमरे के जरिए यह परीक्षार्थी को दिखाना होगा। {विद्यार्थी यूजर आईडी और पासवर्ड भरकर पेपर एक्सेस कर सकेंगे।
  • 2 घंटे बाद उत्तर पुस्तिका को स्कैन कर अपलोड करनी होगी।
  • उत्तर पुस्तिका अपलोड करने के लिए परीक्षार्थियों को अतिरिक्त 15 मिनट का समय दिया जाएगा।
  • परीक्षा के दौरान विद्यार्थियों को गर्दन घुमाने पर पाबंदी रहेगी।

विद्यार्थियों पर निगरानी के लिए बनाए गए कंट्रोल रूम
परीक्षार्थियों की ऑनलाइन निगरानी के लिए कंट्रोल सेंटर बनाए गए हैं। एक फैकल्टी 15 विद्यार्थियों पर नजर रखेगा। ग्वालियर कैंपस में 2 कंट्रोल रूम बनाए गए हैं। एक कंट्रोल रूम में 40 कम्प्यूटर हैं। प्रत्येक कम्प्यूटर की स्क्रीन पर विद्यार्थी ऑनलाइन परीक्षा देते हुए नजर आएंगे, जिनकी निगरानी फैकल्टी मेंबर करेंगे।

खबरें और भी हैं...