पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नशे में कर रहे अपराध:हत्या की 30 फीसदी और लूट की 60 फीसदी घटनाओं की वजह नशा

ग्वालियर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हाल में हुईं दो हत्याओं में ही नशे का एंगल सामने आया

नशे की लत काे पूरा करने के लिए या नशे के कारण शहर में हत्या, लूट, दुष्कर्म और चाेरी जैसे अपराध हाे रहे हैं। हाल में नशे के कारण हुए झगड़े में एक युवक की जान चली गई तो नशे की लत को पूरा करने के लिए ही एक रिटायर्ड दरोगा का घर में घुसकर कत्ल कर दिया गया। इन घटनाओं को देखते हुए दैनिक भास्कर ने पिछले डेढ़ साल में हुए अपराध के आंकड़ों का विश्लेषण किया तो सामने आया हत्या के मामलों में करीब 30 प्रतिशत वारदातों के पीछे वजह कहीं न कहीं नशा रहा। जबकि लूट की करीब 60 प्रतिशत वारदातों में आरोपी नशेड़ी निकले, इसमें चेन स्नेचिंग करने वाले, मोबाइल छीनने वाले अधिकांश आरोपी नशेड़ी हैं।
इस साल ज्यादा पकड़े नशे के सौदागर
वर्ष 2020 के जनवरी से मई के बीच पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट के 9 मामले दर्ज किए थे। लेकिन इस वर्ष एक जनवरी से 20 मई के बीच एनडीपीएस एक्ट के 30 मामले दर्ज किए। इसमें करीब 40 नशे के सौदागरों को पुलिस ने पकड़ा है। इसमें स्मैक तस्कर, गांजा तस्कर, ब्राउन शुगर तस्कर और बड़े पैमाने पर अवैध शराब का धंधा करने वालों को पकड़ा है। पिछली बार की तुलना में इस बार कार्रवाई अधिक हुई। लेकिन फिर भी मादक पदार्थों की तस्करी शहर में नहीं रुक रही है क्योंकि पुलिस सिर्फ एजेंट को नहीं पकड़ सकी है। मुख्य तस्कर पुलिस पकड़ से बाहर हैं।

2 उदाहरण: नशे के कारण हुईं ये दोनों वारदात

केस:1- रिटायर्ड दराेगा के कत्ल की वजह नशा
बहाेड़ापुर थाना क्षेत्र में 25-26 मई की दरम्यानी रात श्रीविहार काॅलाेनी में रिटायर्ड दरोगा मेघ सिंह कुशवाह की उन्हीं के घर में हत्या कर दी गई। वे शराब का नशा करने के आदी थे, पुलिस ने हत्या करने वाले चार युवकाें को पकड़ा तो पता लगा कि वह भी नशा करने के आदी हैं।

केस:2- शराब पार्टी में झगड़े के कारण हुई हत्या
थाटीपुर की दर्पण कॉलोनी में 26 मई की सुबह वरुण की हत्या उसके दोस्त राहुल शर्मा, प्रशांत शर्मा और कपिल ने ही कर दी। ये सभी अक्सर शराब पार्टी करते थे। एक दिन पहले शराब पार्टी के दाैरान प्रवेंद्र जादाैन का कपिल से झगड़ा हुआ था।

रिटायर्ड दरोगा की हत्या कर लूटी रायफल बरामद

बहोड़ापुर के श्रीविहार कॉलोनी में रिटायर्ड दरोगा मेघ सिंह कुशवाह की हत्या के बाद लूटी गई रायफल पुलिस को मिल गई है। लेकिन पुलिस ने इसकी बरामदगी नहीं दिखाई है। पुलिस को चाैथे आरोपी की तलाश है, उसका भी सुराग मिल गया है। जल्द ही पुलिस उस तक पहुंच सकती है। पकड़े आरोपियों को पुलिस ने दो दिन की रिमांड पर लिया है। सोमवार-मंगलवार की रात रिटायर्ड दरोगा की घर में हत्या कर दी गई थी।

शुक्रवार को पुलिस ने तीन आरोपी पकड़ लिए। इनके नाम रानू परिहार, देवू कुशवाह और रोहित शर्मा हैं। तीनों नशेड़ी हैं। यहां नशे की लत पूरी करने के लिए इनके पास पैसे नहीं थे। इसके चलते रिटायर्ड दराेगा के घर में रैकी कर घुसकर बंदूक सहित अन्य सामान ले गए।

कब कितने अपराध और नशे से वास्ता

हत्या: 1 जनवरी 2021 से 27 मई तक हत्या की 26 घटना हुई हैं, इनमें से 20 घटना में आरोपी पकड़े गए। कुछ में एक दो आरोपी पकड़ना शेष रह गए हैं। 6 वारदात अनसुलझी हैं, 6 घटनाएं नशे के कारण हुईं।
हत्या का प्रयास: वर्ष 2020 में हत्या के प्रयास की 86 घटना हुईं, 71 घटनाएं सुलझ चुकी हैं। इस साल कुल 26 घटना हुईं, जिनमें से 14 अभी लंबित हैं। 26 में से 4 घटनाएं नशे में हुईं।
लूट: 1 मई से 25 मई के बीच लूट की 34 घटना हुईं। 25 वारदात में आरोपी पकड़े गए। जिन वारदातों में आरोपी पकड़े गए, उनमें से 15 घटनाओं में आरोपी नशेड़ी थे। इसमें से कुछ वह थे, जो नशा के लिए लूट करते थे।
दुष्कर्म: 1 जनवरी 2020 से 31 दिसंबर 2020 तक दुष्कर्म की 254 घटनाएं हुईं। इनमें से 27 घटनाओं में आरोपी नशे में थे। 1 जनवरी 2021 से अभी तक दुष्कर्म की 90 घटना हुईं। 8 वारदातों में आरोपी नशे में थे।
चोरी: इस साल घर में घुसकर चोरी की 212 वारदात हुईं। इनमें से पुलिस ने 50 वारदातों में आरोपी पकड़े। करीब 32 वारदातों में आरोपी नशेड़ी निकले। ये सभी नशे की लत को पूरा करने के लिए चोरी करते हैं।

खबरें और भी हैं...