• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Invitation Given To 500 In Marriage, Get Cards Printed Too, Now Unable To Understand Whom To Call And Whom To Leave

कोरोना इफैक्ट:शादी में 500 को दिया न्यौता, कार्ड भी छपवाए, अब समझ नहीं पा रहे- किसे बुलाएं और किसे छोड़ें

ग्वालियर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इस महीने 5 विवाह मुहूर्त में सैकड़ों शादियां होनी हैं, लेकिन बढ़ते संक्रमण और कोविड गाइड लाइन के कारण आयोजकों की चिंताएं बढ़ गईं हैं। - Dainik Bhaskar
इस महीने 5 विवाह मुहूर्त में सैकड़ों शादियां होनी हैं, लेकिन बढ़ते संक्रमण और कोविड गाइड लाइन के कारण आयोजकों की चिंताएं बढ़ गईं हैं।

8 दिन बाद यानि 15 जनवरी से सहालग शुरू होने वाले हैं, लेकिन कोरोना के बढ़ते संक्रमण और शासन की गाइडलाइन ने लोगों काे परेशान कर रखा है। अक्टूबर से दिसंबर तक शादियां तय करने वालों को यह आशंका नहीं थी कि कोरोना अचानक इस कदर बढ़ेगा कि मेहमानों की संख्या 250 लोगों तक सीमित हो जाएगी।

आयोजकों ने जनवरी और फरवरी के मुहूर्तों में शादी करने की तैयारी की थी, वह पूरी क्षमता से शादी करना चाहते थे। लोगों ने नाते-रिश्तेदारों, दोस्तों को फोन से न्यौता दे दिया था, कार्ड भी छप गए थे लेकिन अब इस बात को लेकर परेशान हैं कि किसे न्यौता दें और किसे छोड़ दें।

15 जनवरी को पहले विवाह मुहूर्त के बाद 22 फरवरी तक मुहूर्त हैं। 23 फरवरी को गुरु अस्त हो जाने के बाद 17 अप्रैल से शादियों का सीजन शुरू होगा, जो 8 जुलाई तक रहेगा, 10 जुलाई को देवशयन होने से चातुर्मास शुरू हो जाएगा और 20 नवंबर तक शादियों के लिए मुहूर्त नहीं रहेंगे। इसके बाद 21 नवंबर से 14 दिसंबर तक सिर्फ 9 ही विवाह मुहूर्त होंगे।

संक्रमण बढ़ा तो शादियों में मेहमानों की संख्या और भी हो सकती है कम

जनवरी-फरवरी में 5, 5 मूहुर्त : जनवरी में 15, 20, 23, 27 और 29 तथा फरवरी में 5, 11, 18, 21 और 22 तारीख को प्रमुख मुहूर्त रहेंगे। अप्रैल में 6 दिन शादियों हो पाएंगी। सबसे ज्यादा विवाह मुहूर्त मई में 13 और जून में 10 दिन रहेंगे। जुलाई और नवंबर में 4-4 और दिसंबर में 5 विवाह मुहूर्त रहेंगे।

उलझन शादी मैरिज गार्डन से करें या होटल से: आयोजकों की उलझन यह है कि 250 की संख्या में वह जिस मैरिज गार्डन में आयोजन किया है उसमें शादी कर लेंगे लेकिन अगर इससे कम संख्या हुई तो वह होटल में शादी करेंगे ऐसे में अभी होटल बुक करें या नहीं?

तो मैरिज गार्डन के हिस्से किए जाएंगे : अगर मेहमानों की संख्या और कम की जाती है ताे मैरिज गार्डन में परेशानी आएगी और ज्यादा खर्चे वाली होगी। इसलिए अब मैरिज गार्डन संचालक अब ऐसी तैयारी कर रहे हैं, इसके लिए एक मैरिज गार्डन के दो से तीन पार्ट करने की तैयारी है।

परेशानी है वधु पक्ष दिल्ली से आना है : मुरार में रहने वाले मनीष दुबे की शादी 23 जनवरी को होना तय हुई है। चूंकि शादी की तारीख लगभग 3 माह पहले ही तय हो गई थी, तब से ही तैयारियां की जा रही हैं। मनीष कहते हैं शादी में शादी में शामिल होने के लिए 500-100 मेहमानों को न्यौता देना था, इनमें से फोन पर भी अपने कई दोस्तों को न्यौता दे चुके हैं, कार्ड छप गए हैं अब क्या करें, किसे बुलाएं और किसे छोड़ें। वधु पक्ष को दिल्ली से आना है, वहां पर कोरोना संक्रमण ज्यादा हैं, पाबंदियां भी ज्यादा लगी हैं ऐसे में वधु पक्ष के लोग कैसे यहां तक आ पाएंगे।

असमंजस में हैं बुकिंग करने वाले : मैरिज गार्डन और केटरिंग सर्विस संचालक रवि चौबे का कहना है कि संक्रमण और गाइडलाइन को लेकर असमंजस में हैं। अगर इससे कम संख्या मेहमानों की निर्धारित होती है तो मैरिज गार्डन के दो-तीन पार्ट करेंगे ताकि आयोजकों पर भी ज्यादा आर्थिक बोझ न पड़े।

नए मुहूर्त के लिए भी संपर्क करने लगे हैं लोग

ज्योतिषाचार्य पं. नितिन तिवारी का कहना है कि जिन लोगों ने जनवरी और फरवरी में शादी के मुहूर्त निकलवाए थे उनमें से कुछ तो अब इसके बाद के नए मुहूर्त निकलवाने के बारे में बात करने के लिए आ रहे हैं। हालांकि वह अभी असमंजस में हैं।

गणतंत्र दिवस- अधिकांश स्कूल ऑनलाइन करेंगे कार्यक्रम, परेड की तैयारी अभी नहीं

शहर के सीबीएसई से जुड़े स्कूलों में 26 जनवरी को होने वाले कार्यक्रम पर संशय है। प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के सचिव विवेक गुप्ता का कहना है कि इस बार 26 जनवरी के कार्यक्रम में सीमित ही विद्यार्थियों को बुलाया जाएगा। इसे ऑनलाइन भी किया जाएगा। प्राइवेट स्कूल कॉम्प्लेक्स के संरक्षक विनय झालानी ने बताया कि इस बार सीमित संख्या में विद्यार्थियों को बुलाया जाएगा।

सांस्कृतिक कार्यक्रम पहले की तुलना कम किए जाएंगे। ग्वालियर ग्लोरी हाई स्कूल की प्रिंसिपल राजेश्वरी सावंत ने बताया कि इस बार कार्यक्रम को ऑनलाइन कराने की तैयारी कर रहे हैं। एलएएचएस की प्रिंसिपल शबना रेहान ने बताया कि इस बार गणतंत्र दिवस पर कार्यक्रम वर्चुअल होगा। इसमें सीमित ही स्टॉफ को बुलाया जाएगा।

साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं किए जाएंगे। वहीं कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने गणतंत्र दिवस को लेकर अभी जिला स्तर पर कोई प्लान तैयार नहीं किया। उन्हें शासन की गाइडलाइन के आने का इंतजार है। कलेक्टर ने कहा कि गाइडलाइन के आधार पर ही हम तय करेंगे गणतंत्र दिवस का आयोजन किस तरह किया जाना है। 26 जनवरी को परेड की तैयारी भी शुरू नहीं की गई है। एसपी अमित सांघी ने कहा कि गाइड लाइन आने पर परेड की तैयारी की जाएगी।

जेयू: अध्ययनशालाओं में ऑनलाइन होगी परीक्षा, गाइड लाइन 10 तक

जीवाजी यूनिवर्सिटी अध्ययनशालाओं के विभागाध्यक्षों की बैठक में तय किया गया है कि इस बार स्नातकोत्तर पहले और तीसरे सेमेस्टर की परीक्षाएं ऑनलाइन कराई जाएंगीं। स्नातकोत्तर पहले सेमेस्टर की परीक्षाएं 24 जनवरी से जबकि तीसरे सेमेस्टर की परीक्षाएं 20 जनवरी से शुरू होगीं। बैठक की अध्यक्षता कुलपति प्रो. अविनाश तिवारी ने की।

प्रो. तिवारी के अनुसार एक पेपर की परीक्षा प्रक्रिया के लिए 5 घंटे का समय रहेगी, एक घंटे में विद्यार्थी पेपर डाउनलोड करेगा, कॉपी तैयारी करके उस पर जानकारी भरेगा, इसके बाद 3 घंटे तक पेपर हल करेगा। वहीं कॉलेजों में होने वाली परीक्षाएं ओपन बुक सिस्टम से कराए जाने की संभावना बन रही है। इस पर 10 जनवरी तक निर्णय होने की संभावना है।

युवा उत्सव की प्रतियोगिताएं भी स्थगित

अंतर्जिला विश्वविद्यालय स्तरीय युवा उत्सव की 8, 9 और 10 जनवरी को आयेाजित की जाने वाली प्रतियोगिताएं कोरोना के बढ़ते हुए संक्रमण के कारण स्थगित कर दी गई हैं। यह निर्देश अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रो. एसके द्विवेदी ने जारी किए हैं।

खबरें और भी हैं...