मानसून मेहरबान:दिनभर बादलों का डेरा रहा फिर भी सिर्फ 6 मिमी बरसे, आज भी बारिश के आसार

ग्वालियर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शनिवार को तेज बारिश के बीच निकलते वाहन चालक। स्थान: जयेंद्रगंज रोड, शाम 6:10 बजे। - Dainik Bhaskar
शनिवार को तेज बारिश के बीच निकलते वाहन चालक। स्थान: जयेंद्रगंज रोड, शाम 6:10 बजे।
  • सीजन में बारिश का काेटा 790.6 मिमी, अब तक 157.1 मिमी बरसे बादल

मानसून सीजन लगभग आधा निकल चुका है। लेकिन अब तक शहर में एक चौथाई भी बारिश नहीं हुई। मानसून सीजन में शहर का औसत बारिश का कोटा 790.6 मिमी है। अब तक 157.1 मिमी बारिश हुई है। इस तरह मानसून सीजन का औसत बारिश का कोटा पूरा करने के लिए 635.7 मिमी बारिश की दरकार है। शनिवार को पूरे दिन उमस का सामना लोगों ने किया। शाम 6 बजे के बाद मौसम बदला और करीब 20 मिनट तक बारिश हुई। इस दौरान मौसम कार्यालय में 6 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई।

शनिवार को बादलों का डेरा दिनभर रहा। लेकिन बारिश शाम को हुई। इस कारण पिछले दिन की तुलना में अधिकतम तापमान 1.3 डिग्री चढ़ गया। पिछले दिन की तुलना में अधिकतम तापमान 1.3 डिग्री बढ़त के साथ 35.1 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 2 डिग्री अधिक रहा। जबकि न्यूनतम तापमान 0.4 डिग्री सेल्सियस गिरावट के साथ 25.5 डिग्री दर्ज किया गया। यह सामान्य से 0.1 डिग्री कम रहा। सुबह की आर्द्रता 88 फीसदी रही। जबकि शाम की आर्द्रता 58 फीसदी रही। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक वेदप्रकाश सिंह ने बताया कि मानसून ट्रफ लाइन ग्वालियर और दतिया से होकर गुजर रही है। इसके साथ ही रीवा संभाग के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। अगले 24 घंटे में बारिश के आसार बने हुए हैं। 27 जुलाई को बंगाल की खाड़ी में नया कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है।

बारिश में देरी से घट सकता है मूंगफली का रकबा

बारिश के कारण तापमान में कमी आने से इन दिनों बोवनी का काम सभी क्षेत्रों में चालू है। धान की बोवनी को लेकर किसान अभी भी इंतजार में हैं जिनके पास पानी के खुद के साधन हैं वे बोवनी चालू कर चुके हैं। जिले में इस बार धान की बोवनी का रकबा 1 लाख 15 हजार हेक्टेयर रखा गया है पर बोवनी सिर्फ 14 हजार 519 हेक्टेयर में ही हो सकी है। कृषि विभाग के मुताबिक जिले में 1050 हेक्टेयर क्षेत्र में मूंगफली की बोवनी का लक्ष्य रखा गया है पर शनिवार तक सिर्फ 12 हेक्टेयर में ही बोवनी हो सकी है।

घाटीगांव के किसान अनिल सिंह चौहान ने कहा कि उनके क्षेत्र में इस बार किसान मूंंगफली का रकबा बढा रहे हैं पर अभी स्थिति साफ नहीं है। नलकूप के पानी देकर धान की बोवनी भी चालू हो चुकी है। संयुक्त संचालक कृषि डॉ. आनंद बड़ोनिया ने कहा कि धान किसानों को अभी चिंता नहीं करनी चाहिए। जिले में धान की बोवनी 15 अगस्त तक होती रही है। बारिश को लेकर डॉ. बड़ोनिया ने कहा कि इस बार शनिवार तक 216.7 मिमी बारिश जिले मेंं हो चुकी है। गत वर्ष इसी दिन तक 172.2 बारिश हुई थी।

लधेड़ी और आर्मी मेस फीडर पर फॉल्ट से एक घंटे गुल रही बिजली

बारिश की वजह से शनिवार को लधेड़ी फीडर और पिंटो पार्क के पास स्थित आर्मी मेस फीडर फॉल्ट होने से पिन इंसुलेटर पंचर हो गए थे। इससे एक घंटे बिजली सप्लाई बाधित हुई। इंद्रमणी नगर में भी शाम 5 बजे से गुल हुई बिजली रात 9 बजे तक नहीं आई। इनके अलावा बारिश की वजह से विनय नगर, जयेंद्रगंज, तानसेन नगर, मुरार, हुरावली, डीडी नगर आदि क्षेत्रों में ट्रांसफॉर्मर से फेस टूटने और खंभे से बिजली गुल होने की शिकायतें भी आईं।

तीन घंटे देरी से आई फ्लाइट

मुंबई में अच्छी बारिश होने से शनिवार को मुंबई से ग्वालियर आने वाली फ्लाइट 3 घंटे देरी से आई। यह फ्लाइट दोपहर 3:30 बजे आती है। इससे अहमदाबाद जाने वाली फ्लाइट भी ग्वालियर से 3 घंटे देरी से रवाना हुई। वहीं शनिवार को बेंगलुुरु, हैदराबाद, कोलकाता और जम्मू से फ्लाइट आई और गई। स्पाइसजेट प्रबंधन के अनुसार रविवार को भी अहमदाबाद, मुंबई, बेंगलुरु, हैदराबाद, कोलकाता और जम्मू से फ्लाइट आएगी और जाएगी। इसी तरह शनिवार को मंगला एक्सप्रेस रद्द रही। एर्नाकुलम से आने वाली मंगला एक्सप्रेस 10 घंटे देरी से चल रही है। शनिवार को गोवा एक्सप्रेस वास्को से नहीं चली ये ट्रेन 25 को ग्वालियर नहीं आएगी। 26 को गोवा एक्सप्रेस रद्द रहेगी।

खबरें और भी हैं...